कोविड वैक्सीन: 9 दवा कंपनियों ने कहा- जल्दी बाजार तक लाने के दबाव में समझौता नहीं करेंगे

0
32


कोविड-19 वैक्सीन की दौड़ में शामिल 9 दवा कंपनियों ने सुरक्षा पर समझौता नहीं करने का वादा किया है. उन्होंने कहा है कि बाजार तक जल्दी पहुंच बनाने के दबाव के बावजूद वैक्सीन के लिए संक्षिप्त रास्ता अख्तियार नहीं करेंगे.

9 अग्रणी वैक्सीन कंपनियों ने जताई प्रतिबद्धता

कोविड वैक्सीन की दौड़ में अगुवा 9 फार्मा कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों ने संकल्प पर हस्ताक्षर किया है. हस्ताक्षर करनेवाली अग्रणी कंपनियों में एस्ट्राजेनेका इंक, बॉयोएनटेक, ग्लाक्सोस्मिथकाइन, जॉनसन एंड जॉनसन, मोडेर्ना इंक, नोवावाक इंक, फाइजर इंक और सनोफी प्रमुख रूप से शामिल हैं. मुख्य कार्यकारी अधिकारियों ने लिखा, “जन स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए हम हमेशा वैक्सीन लेनेवालों के स्वास्थ्य और सुरक्षा के प्रति वचनबद्ध रहे हैं.” दस्तावेज का मकसद उन धारणाओं को दूर करना है जिसमें राजनीतिक दबाव के चलते वैक्सीन की सुरक्षा से समझौता करने की बात कही गई है.

अप्रत्याशित सार्वजनिक खत में कंपनियों ने इस बात पर रजामंदी जाहिर की है कि जब बड़े पैमाने पर परीक्षण में सुरक्षित और प्रभावी होने का पता चल जाएगा तभी वैक्सीन की मान्यता के लिए आवेदन किया जाएगा. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कह चुके हैं कि वैक्सीन नवंबर में राष्ट्रपति के होनेवाले चुनाव से पहले तैयार हो सकती है. उन्होंने फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन पर उनकी राजनीति को नुकसान पहुंचाने के लिए धीमी गति से काम करने का आरोप भी लगाया है. ऐसे में वैक्सीन के प्रति लोगों का विश्वास हासिल करना जरूरी हो जाता है. स्वास्थ्य अधिकारी वैक्सीन लेने के लिए दुनिया भर के लाखों लोगों को समझाने की कोशिश कर रहे हैं.

कोविड वैक्सीन की सुरक्षा से नहीं होगा समझौता

पत्र में कहा गया, “हमें विश्वास है कि संकल्प से लोगों के विश्वास बहाली में मदद मिलेगी.” उन्होंने बताया कि कठोर वैज्ञानिक और नियामक प्रक्रिया के जरिए कोविड-19 वैक्सीन का मूल्यांकन किया जाता है. तब जाकर वैक्सीन को मान्यता मिलती है.” कंपनियों ने वादा किया कि दुनिया भर में अलग-अलग समूहों के वॉलेंटियर पर शोध के लिए FDA की उम्मीदों पर खरा उतरेंगी.

मोडेर्ना ने हाल में अपने परीक्षण के लिए लोगों को शामिल करने की प्रक्रिया को धीमा कर दिया था. जिसकी वजह से उसे एक सप्ताह देर से कोरोना वायरस के ज्यादा जोखिम वाले अल्पसंख्यक समुदाय को शामिल करना पड़ा. मर्क के मुख्य कार्यकारी अधिकारी केन फ्रेजर ने पिछले हफ्ते दवा निर्माताओं की मीटिंग में बताया था कि वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल की बुनियाद पर डाटा को सार्वजनिक किया जाना चाहिए. वैज्ञानिक समुदाय डाटा का अवलोकन कर लोगों को विश्वास दिला सकेगा कि निष्पक्षता से इसको देखा गया है. संकल्प में चीन की सिनोवाक बॉयेटेक लिमिटेड या कैनसिनो बॉयोलोजिक्स इंक को शामिल नहीं किया गया है. रूस और चीन ने मानव परीक्षण के पूरा होने से पहले ही सीमित स्तर पर वैक्सीन का इस्तेमाल शुरू कर दिया है.

जम्मू: IIIM कर रहा फार्मुलेशन का क्लीनिकल परीक्षण, कोविड-19 दवा का किया जा सकेगा विकास

ICMR ने कहा- कोविड-19 से होने वाली मौत नहीं रोक सकती प्लाज्मा थेरेपी



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here