पाकिस्‍तानियों ने किया ये काम, प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा धन्‍यवाद

[ad_1]

Imran Khan thanks Pakistanis as remittances hit 2 billion dollar for 8th month- India TV Paisa
Photo:IMRANKHAN@TWITTER

Imran Khan thanks Pakistanis as remittances hit 2 billion dollar for 8th month

इस्‍लामाबाद। विदेशों में काम करने वाले पाकिस्‍तानी कर्मचारियों द्वारा अपने देश भेजे जाने वाला रेमिटैंस लगातार 8वें महीने जनवरी, 2021 में 2 अरब डॉलर से अधिक रहा है। जनवरी में पाकिस्‍तान में 2.3 अरब डॉलर का रेमिटैंस आया है। एक साल पहले की तुलना में यह 19 प्रतिशत अधिक है। स्‍टेट बैंक ऑफ पाकिस्‍तान ने सोमवार को यह जानकारी दी।

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्विट कर विदेशों में रह रहे पाकिस्‍तानियों को धन्‍यवाद दिया है। उन्‍होंने लिखा है कि यह हमारे देश के लिए एक रिकॉर्ड है और मैं विदेशों में बसे पाकिस्‍तानियों का धन्‍यवाद करता हूं।  

स्‍टेट बैंक ऑफ पाकिस्‍तान ने अपने एक बयान में कहा कि रेमिटैंस में निरंतर बढ़ोतरी इस बात का संकेत है कि अब बड़े पैमाने पर बैंकिंग चैनल का उपयोग किया जा रहा है, जो सरकार और केंद्रीय बैंक द्वारा किए जा रहे उपायों का परिणाम है, जिसके फलस्‍वरूप आधिकारिक चैनल के जरिये रेमिटैंस में वृद्धि हो रही है। बैंक ने कहा कि महामारी के कारण सीमित अंतरराष्‍ट्रीय यात्रा और एक फ्लेक्‍जीबल एक्‍सेंचज रेट व्‍यवस्‍था से रेमिटैंस में वृद्धि हो रही है।  

स्‍टेट बैंक ऑफ पाकिस्‍तान के मुताबिक जुलाई 2020 से जनवरी 2021 के दौरान पाकिस्‍तान में कुल 16.5 अरब डॉलर का रेमिटैंस आया है, जिसमें सबसे ज्‍यादा हिस्‍सेदारी साऊदी अरब (4.5 अरब डॉलर), युनाइटेड अरब अमीरात (3.4 अरब डॉलर), यूनाइटेड किंगडम (2.2 अरब डॉलर) और अमेरिका (1.4 अरब डॉलर) है।

सूचना मंत्री शिबली फराज ने कहा कि रेमिटैंस में निरंतर वृद्धि इस बात का साफ संकेत है कि विदेशों में रहे पाकिस्‍तानियों का भरोसा प्रधानमंत्री इमरान खान की पारदर्शी नेतृत्‍व क्षमता में लगातार बढ़ रहा है। दिसंबर, 2020 के दौरान पाकिस्‍तान में 2.4 अरब डॉलर का रेमिटैंस आया था।

लगभग एक करोड़ पाकिस्‍तानी वर्तमान में विदेशों में काम कर रहे हैं। इनमें से लगभग 15 लाख यूएई में है। पिछले साल सरकार ने देश में अधिक विदेशी मुद्रा लाने के लिए एनआरआई को आकर्षित करने के लिए रोशन डिजिटल एकाउंट और नया पाकिस्‍तान सर्टिफ‍ि‍केट लॉन्‍च किए थे।



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Main Menu