फ्लिपकार्ट से इस अमेरिकी कंपनी को हुआ ‘छप्परफाड़ फायदा’

0
39


Photo:FILE

वॉलमार्ट के लिए Flipkart सौदा बना फायदेमंद, वैश्विक बिक्री में की 5.5% की वृद्धि

नई दिल्ली। अमेरिका की खुदरा दिग्गज कंपनी वॉलमार्ट (Walmart) के लिए भारत में फ्लिपकार्ट (Flipkart) के साथ हुआ सौदा फायदेमंद रहा है। कंपनी ने गुरुवार को कहा कि चौथी तिमाही में उसकी अंतरराष्ट्रीय बिक्री 5.5 प्रतिशत बढ़कर 34.9 बिलियन अमेरिकी डॉलर हो गई, जिसमें भारतीय ई-कॉमर्स शाखा फ्लिपकार्ट और कुछ अन्य बाजारों में “मजबूत टॉपलाइन ग्रोथ” की मुख्य भूमिका रही। वॉलमार्ट इंटरनेशनल – जिसमें भारत, चीन, जापान, अफ्रीका, कांडा, यूके, मैक्सिको और चिली जैसे बाजारों में कंपनी के संचालन शामिल हैं – ने एक साल पहले की अवधि में 33 बिलियन अमरीकी डालर की शुद्ध बिक्री की थी।

पढें–  दिल्ली में इलेक्ट्रिक वाहनों की प्राइज लिस्ट, ​जानिए कितने में मिलेगी कार और बाइक

अमेरिका के बेंटनविले-स्थित इस कंपनी ने चौथी तिमाही में अपने कुल राजस्व में 7.3 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की और 152.1 बिलियन अमरीकी डालर का कारोबार किया। पूरे साल के आधार पर, वॉलमार्ट का राजस्व 6.7 प्रतिशत बढ़कर 559.2 बिलियन अमरीकी डॉलर था। वॉलमार्ट ने अपनी कमाई के बयान में कहा, “वॉलमार्ट अंतर्राष्ट्रीय शुद्ध बिक्री $ 34.9 बिलियन थी। इसमें 5.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई। निरंतर मुद्रा में शुद्ध बिक्री में 6.3% की वृद्धि हुई, जिसमें फ्लिपकार्ट, मैक्सिको और कनाडा की मुख्य भूमिका रही।”

पढ़ें-   यहां FASTAG है बेकार! इस एप के बिना नहीं मिलेगी Yamuna Expressway पर एंट्री

अमेरिका में वॉलमार्ट की शुद्ध बिक्री, जो कि उसका सबसे बड़ा बाजार है, जो कि एक साल पहले की समान अवधि में $ 92.3 बिलियन से रिपोर्टेड तिमाही में 7.9 प्रतिशत बढ़कर 99.6 बिलियन अमरीकी डॉलर थी।

फ्लिपकार्ट में वॉलमार्ट इंक का अधिकांश हिस्सा है। इसने 2018 में बेंगलुरु स्थित ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म में 16 बिलियन अमरीकी डालर का निवेश किया था। वॉलमार्ट के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष और सीईओ जूडिथ मैककेना ने कहा, “हमारे पोर्टफोलियो का आकार बदल रहा है और हम अपने संसाधनों को उन बाजारों पर केंद्रित कर रहे हैं, जहां हमें दीर्घकालिक और टिकाऊ लाभदायक विकास का सबसे बड़ा अवसर मिलता है।”





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here