2021 के पहले सप्ताह में ही शुक्र बदलेंगे अपनी राशि, जानें आपके लिए कैसा रहेगा ये परिवर्तन

[ad_1]

भाग्य के कारक ग्रह शुक्र एक बार फिर अपनी राशि में बदलाव कर रहे हैं और वह भी नए साल यानि 2021 के पहले ही सप्ताह में… शुक्र ग्रह वृषभ राशि का स्वामी ग्रह है वृषभ राशि के अंतर्गत यह संचित धन के दूसरे घर, संचार और भाषण का कारक भी बन जाता है।

शुक्र ग्रह जन्म कुंडली में स्थित 12 भावों पर अलग-अलग तरह से प्रभाव डालता है। इन प्रभावों का असर हमारे प्रत्यक्ष जीवन पर पड़ता है। इसके अतिरिक्त शुक्र एक शुभ ग्रह है, परंतु यदि शुक्र कुंडली में मजबूत होता है तो जातकों को इसके अच्छे परिणाम मिलते हैं जबकि कमज़ोर होने पर यह अशुभ फल देता है।

यह तुला राशि का स्वामित्व भी करता है जो गठजोड़, व्यवसाय, विवाह और साझेदारी को प्रदर्शित करने वाली सातवीं राशि है। स्त्री स्वभाव वाला शुक्र ग्रह यदि किसी की कुंडली में अनुकूलता से विराजमान हो तो यह अच्छे रूप और व्यक्तित्व का आशीर्वाद व्यक्ति को देता है। शुक्र सूर्य के करीब है, इसलिए एक राशि से दूसरी राशि में गोचर करने में लगभग 23 दिन लगाता है।

MUST READ : Kisan Andolan 2020- ग्रहों की नजरों में किसान आंदोलन कब होगा खत्म

https://www.patrika.com/astrology-and-spirituality/when-will-the-farmer-movement-2020-end-6600134/

वैदिक ज्योतिष में शुक्र ग्रह को एक शुभ ग्रह माना गया है। इसके प्रभाव से व्यक्ति को भौतिक, शारीरिक और वैवाहिक सुखों की प्राप्ति होती है। इसलिए ज्योतिष में शुक्र ग्रह को भौतिक सुख, वैवाहिक सुख, भोग-विलास, शौहरत, कला, प्रतिभा, सौन्दर्य, रोमांस, काम-वासना और फैशन-डिजाइनिंग आदि का कारक माना जाता है।

शुक्र वृषभ और तुला राशि का स्वामी होता है और मीन इसकी उच्च राशि है, जबकि कन्या इसकी नीच राशि कहलाती है। शुक्र को 27 नक्षत्रों में से भरणी, पूर्वा फाल्गुनी और पूर्वाषाढ़ा नक्षत्रों का स्वामित्व प्राप्त है। ग्रहों में बुध और शनि ग्रह शुक्र के मित्र ग्रह हैं और तथा सूर्य और चंद्रमा इसके शत्रु ग्रह माने जाते हैं।

2021 वर्ष के दौरान शुक्र का गोचर : देखें किस तारीखों को होगा बदलाव…
राशि से राशि में दिनांक दिन समय
वृश्चिक धनु 04 जनवरी सोमवार 04:51
धनु मकर 28 जनवरी बृहस्पतिवार 03:18
मकर कुंभ 21 फरवरी सोमवार 02:12
कुंभ मीन 17 मार्च बुधवार 02:49
मीन मेष 10 अप्रैल शनिवार 06:14
मेष वृषभ 04 मई मंगलवार 13:09
वृषभ मिथुन 28 मई शुक्रवार 23:44
मिथुन कर्क 22 जून मंगलवार 14:07
कर्क सिंह 17 जुलाई शनिवार 09:13
सिंह कन्या 11 अगस्त बुधवार 11:20
कन्या तुला 06 सितंबर सोमवर 00:39
तुला वृश्चिक 02 अक्टूबर शनिवार 9:35
वृश्चिक धनु 30 अक्टूबर शनिवार 15:56
धनु मकर 08 दिसंबर बुधवार 12:56
मकर धनु 30 दिसंबर बृहस्पतिवार 09:57

ज्योतिष में शुक्र ग्रह जन्म कुंडली में स्थित 12 भावों पर अलग-अलग तरह से प्रभाव डालता है। इन प्रभावों का असर हमारे प्रत्यक्ष जीवन पर पड़ता है। इसके अतिरिक्त शुक्र एक शुभ ग्रह है, परंतु यदि शुक्र कुंडली में मजबूत होता है तो जातकों को इसके अच्छे परिणाम मिलते हैं जबकि कमज़ोर होने पर यह अशुभ फल देता है।

04 जनवरी 2021 को सुबह 4 बजकर 51 मिनट पर कला, सौंदर्यता, भौतिक सुख-समृद्धि और कामुकता का कारक ग्रह शुक्र वृश्चिक राशि से धनु राशि में गोचर करने जा रहे हैं। शुक्र धनु राशि में 28 जनवरी 2021 तक रहेंगे। शुक्र ग्रह के इस गोचर का प्रभाव सभी राशियों पर शुभ-अशुभ रूप से पड़ेगा।

MUST READ : Astrology- कोरोना काल में कटा हुआ पैसा आपको कब मिलेगा वापस?

https://www.patrika.com/dharma-karma/when-will-you-get-back-the-money-deducted-in-the-corona-era-6600930/

Venus Rashi Parivartan 2021 Efeects on all zodiac signs:आइए जानते हैं शुक्र के इस गोचर का सभी राशियों पर प्रभाव…

1. मेष राशि
शुक्र देव आपकी राशि से नवम भाव में प्रवेश करेंगे। इस दौरान उनको व्यापार में लाभ होगा, इसके साथ ही वित्तिय रूप से भी आप सशक्त हो सकते हैं। यात्रा से आपको लाभ मिलने की संभावना है। शुक्र पर्यटन, मित्रों का साथ, परिवार में कोई कार्यक्रम आदि का कारक बन सकता है। विदेशी व्के व्यक्ति अथवा विदेशी कंपनियों में सर्विस हेतु आवेदन करना चाहें तो लाभ के अच्छे योग बनेंगे।

उपाय: शुक्रवार के दिन देवी पार्वती को कच्चा चावल चढ़ाएं।

2. वृषभ राशि
शुक्र का गोचर राशि से अष्टम भाव में होगा। यहां यह गोचर आपके लिए बहुत ज्यादा अनुकूल नहीं होगा। आपका व्यक्तित्व आकर्षक और मजबूत होगा, लेकिन कभी-कभी आप लालची और खुदगर्ज भी हो सकते हैं। सेहत से जुड़ी परेशानी रह सकती है। अचानक से कोई समस्या आ सकती है। हालांकि प्रेम जीवन में यह गोचर लाभकारी सिद्ध होगा। वाहन सावधानीपूर्वक चलाएं। कोर्ट कचहरी के मामले एवं झगड़े विवाद से बचें। आप बेहद धैर्यवान और अच्छे श्रोता बनकर इस दौरान उभरेंगे और किसी भी बात के हर पहलू पर नजर डालेंगे।

उपाय: लाभकारी परिणामों को बढ़ाने के लिए परशुराम जी की कहानियां पढ़ें।

3. मिथुन राशि
शुक्र का गोचर आपकी राशि से सप्तम भाव में होगा। शुक्र गोचर 2021 के अनुसार, आपका स्वभाव खुशमिजाज होगा, और लोग आपकी बुद्धिमत्ता और समझदारी के कारण आपकी ओर आकर्षित होंगे, और इसलिए आपके सामाजिक दायरे में भी इजाफा होगा। दांपत्य जीवन में मधुरता आएगी। यदि आप प्रेम विवाह भी करना चाहें तो अवसर अच्छा है लाभ उठा सकते हैं। व्यापार में उन्नति होगी। यदि आप साझेदारी में कोई काम कर रहे हैं तो उसमें सफलता मिलेगी।

उपाय: शुक्रवार को देवी सरस्वती को सफेद फूल अर्पित करें।

4. कर्क राशि
शुक्र का गोचर आपकी राशि से षष्ठम भाव में होगा। आपको इस दौरान कार्यक्षेत्र में सावधानी बरतने की भी जरूरत है क्योंकि आप व्यक्तिगत रूप से कोई निर्णय ले सकते हैं। आपको अपने मानसिक स्वास्थ्य के प्रति भी सावधान रहना होगा और मानसिक रूप से सशक्त रहने के लिए योग और ध्यान को अपनी जीवन शैली में जगह देना आपके लिए अच्छा रहेगा। कार्यक्षेत्र में आपको संभलकर रहना होगा। शत्रु आपकी राह में बाधा पहुंचा सकते हैं। इस अवधि में मानसिक तनाव का सामना करना भी पड़ सकता है। विदेश यात्रा के योग और भौतिक सुखों में वृद्धि होगी।

उपाय: रोज सुबह खाली पेट नींबू पानी पिएं।

5. सिंह राशि
शुक्र का गोचर आपकी राशि से पंचम भाव में होगा। आप स्पष्टवादी होंगे, लेकिन प्रेम जीवन में मनमौजी भी हो सकते हैं। शुक्र गोचर 2021 के अनुसार, आप दूसरों के प्रति स्नेही और उदार रहेंगे, हालाँकि घमंड की एक चादर भी आपके इर्दगिर्द देखी जा सकती है।प्रेम जीवन के लिए यह अवधि अति उत्तम होगी। रिश्ते में रोमांस बढ़ेगा। संतान सुख प्राप्त होगा। छात्रों को उच्च शिक्षा में सफलता मिलने की प्रबल संभावना होगी। कार्यक्षेत्र आपके द्वारा लिए गए निर्णय की सराहना होगी।

उपाय: अपने कमरे की दक्षिण दिशा में गुलाब क्वार्ट्ज क्रिस्टल रखें।

6. कन्या राशि
चतुर्थ भाव में शुक्र का गोचर चल अचल संपत्ति में वृद्धि करेगा। लेकिन सेहत से जुड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। शो-ऑफ करना आपके लिए एक बड़ा बदलाव होगा। आप अपने एकांत में रहना पसंद करेंगे और जब आप काम कर रहे हों तो चाहेंगे कि कोई आपको परेशान न करे। कटु भाषा का प्रयोग करने से बचें। नौकरी में पदोन्नति के योग हैं। प्रेम के मामले में कुछ मुश्किलें आ सकती हैं।

उपाय: दिन में 108 बार शुक्र बीज मंत्र का जप करें।

7. तुला राशि
शुक्र का गोचर आपके तृतीय भाव में पराक्रम और शौर्य को बढ़ाएगा। इस अवधि में आप सज्जनता से भरे रहेंगे और सभी के साथ सम्मानपूर्वक व्यवहार करेंगे। आपके प्रयासों में वृद्धि होगी। धार्मिक एवं मांगलिक कार्यों का सुअवसर आएगा। विदेश यात्रा के योग, भाग्योन्नति, रुके हुए कार्यों का निपटारा होगा।

उपाय: अपने बटुए में चांदी का चौकोर टुकड़ा रखें।

8. वृश्चिक राशि
दूसरे भाव में शुक्र आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार लाएगा। वहीं इस अवधि के दौरान रिश्ते आपके आपके लिए बहुत जरूरी होंगे। साथ ही अचानक से धन प्राप्ति के योग बन रहे हैं। लोगों की उम्मीद पर खरा उतरने के लिए आपको अधिक मेहनत करनी होगी। जॉब और व्यापार में लाभ प्राप्त होगा। प्रमोशन आदि का भी योग बन सकता है। आपको ऑफिस राजनीति का भी सामना करना पड़ सकता है, जिससे आपको मानसिक रूप से परेशानी होगी।

उपाय: काली गाय को रोज रोटी खिलाएं।

9. धनु राशि
आप इस गोचर के दौरान उत्साह से भरे होंगे। इस दौरान मित्रों का साथ मिलेगा, उनके साथ समय व्यतीत करने का अच्छा अवसर मिलेगा। जिन लोगों का विवाह नहीं हुआ है, उनके लिए विवाह का योग भी शुक्र बना सकते हैं। छात्रों का मन पढ़ाई में लगेगा और लक्ष्य को भेदने में सफल रहेंगे। आपकी प्रतिबद्धता इस दौरान बढ़ेगी, इसलिए इस अवधि के दौरान टिकाऊ काम करना पसंद करेंगे।

उपाय: उत्तम फल प्राप्त करने के लिए प्रतिदिन सौंफ का सेवन करें।

10. मकर राशि
शुक्र का गोचर आपकी राशि से द्वादश भाव में होगा। आप अपने संबंधों के प्रति ईमानदार रहेंगे और अपने साथी से एक मजबूत प्रतिबद्धता की उम्मीद करेंगे। घूमने-फिरने का पूरा आनंद लेंगे, किंतु स्वास्थ्य का ध्यान रखें। कई बार आपका कार्य होते होते रुक जाएगा किंतु हताश न हों, इसमें शीघ्र ही सुधार भी आएगा। मानसिक तनाव रह सकता है।

उपाय: किसी जानकार की सलाह पर अपनी अनामिका अंगुली में अच्छी गुणवत्ता वाला ओपल पहनें।

11. कुंभ राशि
शुक्र का गोचर आपकी राशि से एकादश भाव में होगा। 2021 शुक्र गोचर के अनुसार, आपको अपने प्रेम जीवन में कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है, जिससे अलगाव की स्थिति भी पैदा हो सकती है। लाभ में शुक्र का गोचर आपके लिए मिलाजुला साबित हो सकता है। कार्यक्षेत्र में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। कार्यक्षेत्र में उदासीनता का सामना करना पड़ सकता है।

उपाय: अपने साथी को उपहार और इत्र दें।

12. मीन राशि
दशम भाव में शुक्र का गोचर कार्यक्षेत्र मददगार होगा, लेकिन बाधाएं भी आएंगी। लोग आपके कही गई बातों से प्रभावित होंगे और इससे आपको प्रसिद्धि भी मिलेगी। सरकार सेवा के लिए आवेदन करना अच्छा रहेगा। घूमने-फिरने की योजना बना सकते हैं। इस दौरान आप अपनी पसंद की चीजों की शॉपिंग भी कर सकते हैं। आप दान पुण्य करने में विश्वास करेंगे और जरूरतमंद लोगों की मदद करने में पाएंगे।

उपाय: शुक्रवार के दिन दुर्गा चालीसा का पाठ करें।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Main Menu