बिहार में कोरोना वायरस से पूर्व शिक्षामंत्री मेवालाल चौधरी सहित 41 की मौत, 7487 नए मामले

0
122


प्रतीकात्मक तस्वीर.

पटना:

बिहार (Bihar) में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के कारण पिछले 24 घंटे के दौरान पूर्व शिक्षामंत्री और प्रदेश में सत्ताधारी पार्टी जदयू के विधायक मेवालाल चौधरी (Mewalal Chaudhary) सहित 41 और व्यक्ति की मौत हो जाने से इससे मरने वालों की संख्या (Bihar Corona Death Case) सोमवार को 1790 तक पहुंच गई. स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, बिहार में रविवार अपराह्न चार बजे से सोमवार अपराह्न चार बजे तक कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के 7487 नए मामले प्रकाश में आए हैं, जिनमें प्रदेश की राजधानी पटना में सबसे अधिक 2672 मामले शामिल हैं. वहीं, पिछले साल कोरोना महामारी की शुरूआत होने से लेकर अब तक बिहार में इस रोग से संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़कर 331604 हो गयी, जिनमें से 280286 मरीज ठीक हुए हैं. राज्य में पिछले 24 घंटे में 2619 मरीज ठीक हुए हैं. 

यह भी पढ़ें

बिहार बीजेपी अध्यक्ष का नीतीश सरकार से सवाल- रात के कर्फ्यू से कोरोना का प्रसार कैसे बंद होगा?

बिहार में पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 83361 नमूनों की जांच की गयी जबकि पिछले साल कोरोना महामारी की शुरूआत होने से लेकर अबतक प्रदेश में 25329800 नमूनों की जांच की गयी है. बिहार में फिलहाल 49527 मरीज उपचाराधीन हैं. राज्य में सोमवार को 104731 लोगों को कोविड-19 का टीका लगाया गया और प्रदेश में अबतक 6027907 लोगों का टीकाकरण हो चुका है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जताया शोक

मुंगेर जिले के तारापुर विधानसभा सीट से जदयू विधायक और पूर्व शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी के निधन पर राज्यपाल फागू चौहान ने शोक जताते हुए कहा कि उनकी मृत्यु से सामाजिक-राजनीतिक एवं शिक्षा जगत को अपूरणीय क्षति हुई है. राज्यपाल ने चौधरी की आत्मा को चिरशांति तथा उनके शोकसंतप्त परिजनों-प्रशंसकों को धैर्य-धारण की शक्ति प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चौधरी के निधन पर शोक जताते हुए कहा, ‘‘वह एक कुशल राजनेता, प्रसिद्ध शिक्षाविद एवं प्रख्यात समाजसेवी थे. वे मृदुभाषी एवं सरल स्वभाव के व्यक्ति थे. उनके निधन से मैं व्यक्तिगत रूप से मर्माहत हूं. उनका निधन बहुत ही दुखद है.  इससे शिक्षा, राजनीति एवं सामाजिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है.”

कोरोना का कहर: बिहार में स्कूल, कॉलेज 15 मई तक रहेंगे बंद, नहीं होगी कोई परीक्षा

उन्होंने कहा कि मेवालाल चौधरी का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जायेगा. पटना स्थित पारस अस्तपताल के निदेशक (सर्जरी) डॉक्टर अहमद अब्दुल हई ने बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमित मेवालाल चौधरी को दो दिन पहले ही अस्पताल में भर्ती कराया गया था और आज सुबह उनकी मृत्यु हो गयी. उल्लेखनीय है कि चौधरी पिछले वर्ष उस समय चर्चा में आए थे जब उन्हें नीतीश कुमार कैबिनेट में मंत्री पद का शपथ लेने के तीन दिन बाद ही इस्तीफा दे देना पड़ा था.

कोविड संक्रमण से बचाव के लिए बिहार में 15 मई तक लागू रहेगा नाइट कर्फ्यू

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here