Astrology : ठंड का कहर अभी बाकी- शनि अस्त में नक्षत्र परिवर्तन होने के साथ ही अब बारिश, बर्फ़बारी और शीतलहर की सम्भावना

0
96


शनि केवल इंसानो को ही नहीं प्रकृति को भी प्रभावित करते हैं…

ज्योतिष शास्त्र में शनि को क्रूर ग्रह माना गया है। माना जाता है कि शनि की दृष्टि सभी राशियों को प्रभावित करती है। शनि शुभ और अशुभ दोनों प्रकार के फल जीवन में प्रदान करते हैं। शनि व्यक्ति को कर्म के आधार पर फल देने का कार्य करते हैं, इसी कारण इन्हे न्याय का देवता भी कहा जाता है। यानि यदि व्यक्ति अच्छे कार्य करता है तो शनि देव उसे शुभ फल प्रदान करते हैं वहीं मनुष्य यदि गलत कार्यों को करता है तो शनि उसे उसी तरह के फल देना आरंभ कर देते हैं।

शनि के सम्बन्ध में मान्यता है कि ये केवल इंसानो को ही नहीं प्रकृति को भी प्रभावित करते हैं। ऐसे में इन दिनों शनि 7 जनवरी 2021 से मकर राशि में अस्त चल रहे हैं और इसी बीच ये 23 जनवरी को नक्षत्र परिवर्तन करते हुए अपने शत्रु चंद्र के श्रवण नक्षत्र में आ गए हैं। जिसके प्रभाव से अब बारिश, बर्फ़बारी और शीतलहर की सम्भावना बढ़ गयी है। वही अब शनि 14 फरवरी 2021 को उदित होंगे यानि तब तक ठण्ड का प्रकोप भी कम तो कभी ज्यादा होता रहेगा।

माना जा रहा है कि शनि के 23 जनवरी को नक्षत्र परिवर्तन के साथ ही मौसम में भी बदलाव देकने को मिलेगा। इसके तहत उत्तर भारत में मौसम एक बार फिर बदला जायेगा। जिसके कारण दिल्ली, यूपी, बिहार, झारखंड, पंजाब हरियाणा में ठंड फिर बढ़ जाएगी । वहीं इसके असर से पहाड़ी राज्यों में बारिश और बर्फबारी होगी तथा उत्तर और उत्तर पश्चिमी राज्यों में बारिश भी हो सकती है। तापमान में गिरावट के साथ ही शनि परिवर्तन शीतलहर संकेत रहा है।

ऐसे में जल्द ही ठंड में फिर इजाफा होने की संभावना है के बीच पहाड़ों से आने वाली ठंडी हवा के कारण तापमान में गिरावट के साथ गलन बढ़ेगी और ठिठुरन भरी सर्दी महसूस की जाएगी।

इसके अलावा देश के कुछ हिस्सों में इसके चलते कोहरे व धुंध की शुरूआत भी होगी। वहीँ कुछ दिन तक ऐसा चलने कुछ क्षेत्रों में इसके बाद मौसम साफ रहने की संभावना है। जबकि इसके कुछ समय बाद ही फिर सर्दी का सितम शुरू हो जायेगा ।

शनि के अस्त के बीच नक्षत्र परिवर्तन से देश के पहाड़ी खासतौर से उत्तराखंड के कई जिलों में बारिश व बर्फबारी के आसार बन रहे हैं। यहां जल्द ही अनेक स्थानों पर हल्की से हल्की बर्षा व बर्फबारी हो सकती है। वहीं इस दौरान मैदानी इलाकों में मध्यम से घना कोहरा छाया रहेगा।

इसके अलावा पहाड़ी क्षेत्रों जैसे हिमाचल प्रदेश में मौसम बिगड़नने और प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी के आसार हैं। इसके कुछ दिन बाद से मौसम साफ रहने की संभावना है। जो कुछ दिनों तक बना रहेगा।

इसके अलावा हरियाणा के कई जिलों में बारिश के आसार के बीच गहरी धुंध छाए रहने की उम्मीद के बीच झारखंड में ठंड की वापसी के अलावा धुंध की संभावना है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here