भारत में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट को लेकर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने दी चेतावनी

0
190


भारत में पहले पता चले कोविड-19 के प्रकार को लेकर ब्रिटेन में ‘‘चिंता’’ है.

लंदन:

ब्रिटेन को दोबारा खोलने की योजना पर प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने शुक्रवार को चेतावनी दी है कि भारत में कोरोनोवायरस वैरिएंट के प्रमुख मामलों में वृद्धि की वजह से ब्रिटेन को पुन: खोलने की योजनाओं में “गंभीर व्यवधान” पैदा हो सकता है. इंग्लैंड सोमवार को योजना के अनुसार फिर से खुलने का अगला कदम उठाएगा, लेकिन 21 जून को  सभी लॉकडाउन कदमों को हटाने की रूपरेखा का आंकलन किया जा सकता है. जॉनसन ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि हमें अपने रोडमैप में देरी करने की जरूरत है.” उन्होंने कहा कि लेकिन, “यह नया वैरियेंट हमारी प्रगति के लिए एक गंभीर बाधा उत्पन्न कर सकता है.”  उन्होंने आगे कहा, “हम जनता को सुरक्षित रखने के लिए जो कुछ भी करना पड़े, हम करेंगे.”

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने भारत के लिए 200 आक्सीजन कंसेंट्रेटर पहुंचाने वाले पायलट को किया सम्मानित

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि B1.617.2 वैरिएंट उत्तर पश्चिमी इंग्लैंड में “तेजी से फैलने लगा है” और लंदन में कुछ हद तक, सरकार इसके प्रसार को और नियंत्रित करने के लिए निर्णायक कार्रवाई कर रही है. जॉनसन ने प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि टीके की दूसरी खुराक 50 से अधिक उम्र के लोगों और गंभीर बीमारी से ग्रसित लोगों को जल्द से जल्द दी जाएगी.  अधिकारियों का कहना है कि इस सप्ताह में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1313 हो गई, जो कि पिछले सप्ताह 520 थी.  

जॉनसन ने कहा कि अगले कदम उठाने से पहले सरकार उन आंकड़ों की प्रतीक्षा कर रही है जो यह संकेत देंगे कि क्या नया स्ट्रेन वर्तमान में चल रहे अन्य उपभेदों की तुलना में अधिक पारगम्य है. हालांकि मुख्य चिकित्सा अधिकारी क्रिस व्हिट्टी ने खुलासा किया कि वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि यह अधिक पारगम्य है, लेकिन यह कितना अधिक पारगम्य है इसका पता नहीं चल पाया है. 

ब्रिटेन, ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका के बाद अब भारत का कोरोना वैरिएंट बना चिंता का विषय: WHO

जॉनसन ने कहा कि यदि ये हल्का होगा तो देश योजना के अनुसार फिर से खुल जाएगा. इससे पहले प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने 12 मई को कहा था कि भारत में पहले पता चले कोविड-19 के प्रकार को लेकर ब्रिटेन में ‘‘चिंता” है और देश के स्वास्थ्य अधिकारी इसके हरसंभव समाधान का रास्ता तलाश रहे हैं क्योंकि इंग्लैंड के कुछ हिस्से में इसके मामले बढ़ते जा रहे हैं. हाउस ऑफ कॉमंस के साप्ताहिक ‘प्राइम मिनिस्टर्स क्वेश्चन’ के सत्र में उनसे बी.1.617.2 प्रकार के बारे में पूछा गया जिसे जनस्वास्थ्य इंग्लैंड ने चिंता वाला प्रकार बताया है. जॉनसन ने कहा, ‘‘हमें सतर्क रहना होगा क्योंकि इस वायरस का खतरा बना हुआ है और नया प्रकार काफी खतरनाक है जिसमें भारत में पहली बार पहचाना गया प्रकार भी शामिल है जो ब्रिटेन में चिंता का कारण है।”

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here