Budh Ka rashi Parivartan: सावन के पहले ही दिन बुध करेंगे कर्क राशि में प्रवेश, जानें किन राशि वालों को होगा बड़ा लाभ

[ad_1]

Mercury Rashi Privartan Effects: जुलाई 2021 में ग्रहों का आखिरी बड़ा परिवर्तन सावन माह की शुरुआत के साथ ही कल रविवार, 25 जुलाई को होगा। ऐसे में इस दिन ग्रहों में राजकुमार यानि बुध, ग्रहों के मंत्री यानि अपने पिता चंद्र देव के स्वामित्व वाली राशि कर्क में प्रवेश कर जाएंगे। जहां इनकी मुलाकात ग्रहों के राजा सूर्य से होगी, ध्यान रहे सूर्य व बुध आपस में युति करके ही बुधादित्य योग का निर्माण करते हैं।

ऐसे में बुध का कर्क में ये गोचर रविवार, 25 जुलाई 2021 को सुबह 11 बजकर 31 मिनट पर होगा, जिसके बाद बुध 9 अगस्त 2021 की सुबह 1.23 बजे के बाद सिंह राशि में गोचर कर जाएंगे। बुध का यह परिवर्तन सभी राशियों पर अपना असर डालेगा। जिसके कारण जहां कुछ राशियों को इसका बड़ा लाभ मिलेगा, तो कुछ को हानि व परेशानी का भी सामना करना पड़ेगा।

Must Read- Rashi Parivartan of Mars 2021: मिथुन राशि वाले गजब के शक्तिशाली होकर उभरेंगे, तो मीन राशि वाले बनेंगे शत्रुहन्ता

mangal parivartan in july 2021

1. मेष राशि
इस समय बुध आपके चौथे भाव यानि माता व सुख भाव में गोचर करेंगे। इस दौरान माता के स्वास्थ्य को लेकर कुछ चिंताएं आपको हो सकती हैं । वहीं नौकरी पेशा जातकों के इस समय तबादले हो सकते हैं। इस दौरान घर के कुछ सदस्यों के साथ आपके वैचारिक मतभेद हो सकते हैं।

इस दौरान आप अपनी निजी जिंदगी में व्यस्त रहेंगे और घर के सभी मामलों को सुलझाने की कोशिश करेंगे। आपमें से कुछ को कार्यक्षेत्र के अनुसार इस समय लाभ प्रप्ति का भी योगा है। कुल मिलाकर देखा जाए तो यह गोचर मिलाजुला आपके लिए रहेगा।

उपाय- भगवान शिव का पूजन करें।

2. वृषभ राशि
इस समय बुध आपके तृतीय भाव यानि पराक्रम व छोटे भाई बहनों के भाव में गोचर करेंगे। इस दौरान आपको अपने सामाजिक दायरे में प्रसिद्धि मिलने की संभावना है। साथ ही इस समय आप अपने भाई-बहनों और परिचितों के साथ छोटी दूरी की यात्रा की योजना भी बना सकते हैं।

इस अवधि में आपके किसी वजह से मानसिक रूप से तनावग्रस्त होने की संभावना के बीच अपनी समझ से काम लेंगे। अपना कारोबार करने वालों के लिए भी यह समय लाभदायक सिद्ध होने की संभावना है। बातचीत में विनम्रता के चलते इस समय आसपास के लोग आपसे आकर्षित होंगे।

उपाय: चिड़ियों को दाना डालें।

4. मिथुन राशि
इस समय बुध आपके दूसरे भाव यानि धन व वाणी भाव में गोचर करेंगे। यह समय आपके लिए आर्थिक परेशानियां ला सकता है। लेकिन आपमें से कुछ अपनी किन्हीं खास विधाओं के माध्यम से धन की प्राप्ति भी कर सकते हैं। विवाहितों को इस समय ससुराल पक्ष से लाभ प्राप्ति की संभावना है।

कहीं से चुनौती मिलने पर इस समय आप अपनी वाणी के माध्यम से नियम के तहत उसे सुलझाने की कोशिश करेंगे। इस समय पिता की सेहत का ध्यान रखना होगा। व्यवसाय करने वाले जातक काम में नवीनता लाकर और अधिक लाभ कमा सकते हैं। इसके साथ ही इस समय जीवन साथी के समर्थन से पेशवर जीवन को आगे बढ़ाने के अलावा आपको कूटनीतिक कौशल का भी सहारा लेना होगा।

उपाय- श्रीकृष्ण की पूजा करें।

Must Read- ये ग्रह बनते हैं आपकी तरक्की में बाधक, देते हैं पैसे से जुड़ी समस्या

grah effect

4. कर्क राशि
इस समय बुध आपकी ही राशि यानि आपके स्वयं के लग्न भाव में गोचर करेंगे। व्यवसाय करने वालों को लाभ के साथ ही इस समय नौकरी पेशा लोग भी कार्यस्थल पर बहुत अच्छा प्रदर्शन करेंगे, जिसकी सराहना भी होगी। इस समय आप अपने कम्फर्ट जोन बाहर आ सकते हैं। वहीं आर्थिक रूप से ये समय अच्छा नहीं कहा जा सकता। धोखे से सावधान रहते हुए इस समय आपको अन्य लोगों को भी ध्यान से सुनना होगा और व्यापार के दौरान सतर्कता भी बरतनी होगी।

उपाय- श्री गणेश की पूजा करें।

 

5. सिंह राशि
इस समय बुध आपके द्वादश भाव यानि व्यय भाव में गोचर करेंगे। यह समय आर्थिक स्तर पर आपके लिए परेशानी का कारण बन सकता है। इस समय आपको अपने खर्चों में लगाम लगानी होगी। तनाव के बीच यह चुनौतिपूर्ण समय रहने वाला है। तमाम चिंताओं के बीच इस समय आपको सेहत का भी ख्याल रखना होगा। उचित होगा इस समय आप अपने रहस्य किसी को न बताएं। इस दौरान विरोधियों से सतर्क रहना होगा, वहीं आपको कहीं से सहयोग भी मिलने की कम ही संभावना है। दांपत्य जीवन में विवाद के बीच किसी जगह अत्यधिक पैसा खर्च होने की भी संभावना है।

उपाय- रामरक्षास्त्रोत का पाठ करें।

6. कन्या राशि
इस समय बुध आपके 11वें भाव यानि आय भाव में गोचर करेंगे। इस दौरान आपको कार्यक्षेत्र में अपने सहयोगियों से समर्थन मिलेगा। लेकिन खर्चे आपको परेशान कर सकते हैं। आप इस समय अपने दुश्मनों को परास्त कर देंगे। आप अपने संचार कौशल के साथ समाज में सम्मान प्राप्त करेंगे। इस दौरान व्यक्तित्व में सुधार के साथ ही आपकी बुद्धिमत्ता और तार्किक सोच अच्छी रहेगी। लेकिन कुछ जातक इस समय कोई गलत कदम उठा सकते हैं, जिसका उन्हें भुगतान भी करना होगा।

उपाय- भगवान शिव की हर रोज आराधना करें।

7. तुला राशि
इस समय बुध आपके दशम भाव यानि कर्म व पिता भाव में गोचर करेंगे। आपकी सोच इस दौरान बहुत सकारात्मक रहेगी। साथ ही समाज में आपका सम्मान बढ़ेगा। इस समय सतर्क रहें क्योंकिं कार्यस्थल पर आपको राजनीति का सामना करना पड़ सकता है। कर्म भाव में बुध के आने से विदेशों में कार्य कर रहे इस राशि के लोगों के व्यापार में उछाल आता दिख रहा है। इस समय आप नया वाहन लेने के साथ ही नए घर या निवेश की भी योजना बना सकते हैं।

Must read- Sawan 2021 Starts: सावन में शिव पूजा के दौरान इन चीजों से बना कर रखें दूरी, जानें पूजा विधि और क्या है महादेव को प्रिय

lord shiv

इस दौरान आपकी कोशिशों से आपके पिता के साथ संबंध सुधर सकते हैं। पिता का व्यवसाय करने वालों को इस समय सफलता मिल सकती है। इस समय आप अपने विरोधियों पर हावी रहेंगे, साथ ही समाज में आपका सम्मान बढ़ेगा। आपको सफलता की ओर ले जाने में आपको अपने रिश्तेदारों और दोस्तों का सहयोग मिलेगा।

उपाय- भगवान गणेश को दूर्वा चढ़ाएं। और हर बुधवार गाय को हरा चारा खिलाएं।

8. वृश्चिक राशि
इस समय बुध आपके नवम भाव यानि भाग्य भाव में गोचर करेंगे। इस दौरान सामाजिक स्तर पर आपको सावधान रहने ही अपना दृष्टिकोण सकारात्मक रखना होगा। वहीं ये समय आपके लिए भाग्यशाली सिद्ध हो सकता है, जिसके चलते आप अच्छा खासा पैसा अर्जित कर सकते हैं।

इस समय आपको समय की बर्बादी छोड़ते हुए अपने कार्य के प्रति दृढ़-संकल्प होना होगा। इस समय आप काफी धार्मिक रहेंगे, लेकिन ध्यान रहे अपनी किसी भी धारणा को किसी पर थोपना नहीं है। विद्यार्थियों के लिए समय अच्छा रहेगा।

उपाय: दुर्गा चालीसा का हर रोज पाठ करें।

9. धनु राशि
इस समय बुध आपके अष्टम भाव यानि आयु भाव में गोचर करेंगे। यह समय आपके लिए शुभ नहीं कहा जा सकता। आपकी राशि के वे लोग जो सर्विस सेक्टर स जुड़े हैं उन्हें इस दौरान कुछ लाभ हो सकता है। वहीं कुछ पैतृक संपत्ति की मदद से लाभ कमा सकते हैं। जबकि सामान्य नौकरी करने वालों के लिए यह समय चुनौतियों से भरा रह सकता है। वहीं व्यापारियों को भी इस दौरान हानि की संभावना है। इसके साथ ही वैवाहिक जीवन में भी दिक्कतें सामने आ सकती हैं। उचित होगा आप हर निर्णय धैर्य के साथ सोच समझकर लें। कुल मिलाकर इस समय आपको कड़ी मेहनत करनी होगी।

उपाय- गुरुवार को भोलेनाथ की पूजा करें।

10. मकर राशि
इस समय बुध आपके सप्तम भाव यानि विवाह भाव में गोचर करेंगे। अविवाहित जातक इस समय भाग्यशाली रह सकते हैं, इस दौरान उन्हें मनपसंद जीवन साथी मिल सकता है। वहीं वैवाहिक जातकों को इस समय अपने साथी की सेहत का खास ख्याल रखना होगा।

Must Read- Shravan Month: सावन के हर सोमवार का अपना खास महत्व, जानें किस दिन करें भगवान शिव के किस रूप की पूजा

shiv rup

इसके अलावा व्यवसाय में साझेदार से सतर्क रहने के साथ ही ग्राहकों से बातचीत के दौरान वाणी पर नियंत्रण रखना होगा। इस समय जल्दबाजी में लिया गया कोई भी निर्णय आपको हानि दे सकता है। इस दौरान साझेदार से मतभेद होने की संभावना के चलते आरोप-प्रत्यारोप का सामना करना पड़ सकता है। कानून से जुड़े जातकों को इस समय लाभ की संभावना है।

उपाय- हर बुधवार गाय को हरा चारा खिलाएं व छोटी कन्याओं को हरी चूड़ियां दान करें।

11. कुंभ राशि
इस समय बुध आपके छठें भाव यानि रोग व शत्रु भाव में गोचर करेंगे। इस समय आपको रोगों व शत्रुओं दोनों से सतर्क रहना होगा। इस समय नौकरी पेशा जातकों की स्थानांतरण की उम्मीद पूरी हो सकती है। इस समय निवेश या पैसा उधार देने से बचें, अन्यथा नुकसान होने की संभावना है।

इसके साथ ही पेशेवर जीवन में सफलता पाने के लिए इस दौरान कठिन परिश्रम करना होगा। वहीं नौकरी में बदालव की चाहत रखने वाले जातकों को इस समय अच्छे ऑफर्स मिलने की संभावना है। इस समय आपको वाहन चलाते समय या उंचाई पर जाते समय सतर्क रहना चाहिए, अन्यथा चोट का खतरा है।

उपाय- तुलसी का पेड़ लगाएं और उसकी नियमित पूजा करें।

12. मीन राशि
इस समय बुध आपके पंचम भाव यानि बुद्धि और पुत्र भाव में गोचर करेंगे। नौकरी व व्यवसाय के लिए यह समय सामान्य से अच्छा रहेगा। इस दौरान सभी निर्णय अत्यधिक सोच विचार के बाद ही लेने लाभकारी रहेंगे। इस समय आपका शांत रवैया आपको कई परेशानियों से बाहर ला सकता है।

कुल मिलाकर यह समय आपके लिए मिश्रित फलदायी रहता दिख रहा है। बच्चे परीक्षा में अच्छा परिणाम पा सकते हैं। प्रेम संबंधों के लिए अनुकूल इस समय में आपमें से कुछ जातक संपत्ति में निवेश कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे इस समय आपको अत्यंत सतर्क रहना होगा, वरना आपको कोई चोट लग सकती है। साथ ही सेहत को लेकर भी आपको सतर्कता बरतनी होगी। इस समय आप अपनी बुद्धि का अच्छा उपयोग कर सकेंगे।

उपाय- भगवान विष्णु की कथा पढ़ें या हर गुरुवार विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें।













[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Main Menu