Budh Rashi Parivartan june 2021: किन राशियों को होगा आर्थिक लाभ और किन्हें रहना होगा संभलकर, जानें बचाव के उपाय

0
67


देवताओं के सेनापति मंगल के कर्क राशि में प्रवेश के ठीक अगले दिन ग्रहों के राजकुमार बुध एक बार फिर अपनी चाल में परिवर्तन करते हुए Shukra के स्वामित्व वाली राशि वृषभ में प्रवेश करने जा रहे हैं। दरअसल ग्रहों के राजकुमार बुध वक्री गति करते हुए 3 जून 2021 को सुबह 3 बजकर 46 मिनट पर वृषभ राशि में प्रवेश कर जाएंगे।

इसके बाद 7 जुलाई, 2021 की सुबह तक इसी राशि में रहने के बाद की सुबह 10 बजकर 59 मिनट पर मिथुन राशि में प्रवेश कर जाएंगे। ऐसे मे Astrology के जानकारों के अनुसार इस समय नए इकोनॉमिक प्लान के चलते कारोबार वापस पटरी पर लौटता नजर आएगा और जिंदगी सामान्य होती चली जाएगी।

ज्योतिष के जानकार बीडी शक्टा के अनुसार बुध का यह परिवर्तन उस समय हो रहा है जब RAHU भी वृषभ राशि में मदमस्त अवस्था में हैं। ऐसे में इस राशि में बुध का भी प्रवेश होने से राहु के अशुभ प्रभाव में जहां कमी आने की संभावना है वहीं इसके परिणामस्वरूप जन्मकुंडली में राहु जनित दोष कुछ दिनों के लिए शांत हो सकते हैं।

Must read : Monthly Horoscope ( 01 जून से 30 जून 2021): कन्या राशि वालों के लिए कैसा रहेगा जून का यह महीना

बुध के इस परिवर्तन का असर केवल राशियों पर ही नहीं बल्कि देश व दुनिया पर भी पड़ेगा। ऐसे में भारत में जहां इस Rashi Parivartan से आर्थिक मोर्चे पर कुछ सकारात्मक परिणाम दिखने की संभावना है। वहीं आम जनजीवन पर खासकर कारोबारी वर्ग पर इस गोचर का अच्छा प्रभाव होने के संकेत भी हैं।

बुध के इस परिवर्तन का राशियों पर असर…

1. मेष राशि (Aries)
वक्री बुध इस समय आपके दूसरे भाव में रहेगा। किसी नए काम को शुरु करने के लिए समय अनुकूल रहेगा।इस गोचर के दौरान आपको अपनी वाणी का सही इस्तेमाल करना होगा, अन्यथा आपकी छवि पर गलत असर हो सकता है।

इस दौरान आपको कार्यक्षेत्र और निजी जीवन में सफलता मिलेगी। वहीं आपको आपको भाई-बहन पूरा साथ मिलेगा, साथ ही आपको आर्थिक सहयोग भी मिल सकता है। आपके आसपास के लोग इस दौरान आपसे प्रभावित होंगे। आर्थिक रूप से यह गोचर आपको अच्छे परिणाम देता दिख रहा है।

उपाय: देवी मां दुर्गा की पूजा करें।

2. वृषभ राशि (Taurus)
वक्री बुध इस समय आपके प्रथम भाव में रहेगा। इस गोचर आप अपनी वाणी और मेहनत से दूसरों पर छाप छोड़ेंगे। इस गोचर के दौरान आपको जीवन के कई स्तरों पर लाभ मिलेगा। इस समय एक ओर जहां आपके दांपत्य जीवन में काफी सुधार आएगा वहीं आपके रिश्तों में भी मिठास आएगी। यह समय प्रेमी-प्रेमिकाओं के बीच की दूरियों को घटाने के साथ ही यदि आपके बीच में किसी तरह की गलतफहमी थी, तो वह भी दूर हो जाएगी। इस समय नए वस्‍त्र और आभूषणों के मिलने की संभावना के बीच आपके व्यवहार में उदारता, कोमलता और सौम्यता देखने को मिलेगी। विद्यार्थियों के लिए यह गोचर शुभ और सफलतादायक रहने की संभावना है।

उपाय: श्री गणेश की पूजा व उनके मंत्र ‘ॐ गं गणपतये नम:’ का जाप करें।

MUST READ : June 2021 Festival: इस बार जून में आने वाले तीज-त्यौहार और उनका शुभ समय

https://www.patrika.com/dharma-karma/festivals-in-june-2021-june-vrat-tyohar-2021-6865811/

3. मिथुन राशि (Gemini)
वक्री बुध इस समय आपके बारहवें भाव में रहेगा। इस समय विदेशों से हानि संभव है। इस गोचर के दौरान आर्थिक स्थिति संतुलित रहने के बावजूद व्यापारी वर्ग मानसिक तनाव महसूस कर सकता है।

इस गोचर में आपको अपने खानपान व स्वास्थ्य पर खास ध्यान देना होगा। वहीं ये भी मुमकिन है कि आपको कुछ जगहों पर हार का सामना करना पड़े। संतान संबंधित चिंता के बीच इस दौरान खर्चों पर थोड़ा ध्यान देने की जरूरत है।

उपाय: बुधवार को गाय को पालक व हरी घास खिलाएं।

 

4. कर्क राशि (Cancer)
वक्री बुध इस समय आपके एकादश भाव में रहेगा। आर्थिक उन्‍नति के योग के साथ यह गोचर शुभ और अनुकूल फल लेकर आएगा। इस समय लंबे समय से रुकी हुई आपकी कोई इच्‍छा पूरी हो सकती है। इस वक्री गोचर के दौरान प्रेम संबंध मधुर होंने के साथ ही भाई-बहनों का सहयोग भी मिलेगा।

व्यापारी वर्ग को लाभ और पेशेवर जातकों को उनकी मेहनत का फल मिलेगा। इस समय आपके हाथ में कई नए अवसर होने के चलते आप मित्रों के साथ प्रवास या पर्यटन के विचार बना सकते हैं।

उपाय: गाय की सेवा करें और उन्हें हरा चारा हर रोज दें।

5. सिंह राशि (Leo)
वक्री बुध इस समय आपके दशम भाव में रहेगा। यह गोचर आपके लिए शुभ रहेगा। ऐसे में इस व्यावसायिक रूप से अनुकूल अवधि के दौरान आपको आर्थिक व बौद्धिक लाभ भी होगा। यह वक्री गोचर आपको भावनात्मक रूप से सक्रिय करेगा इस दौरान आपकी वाणी में विशेष आकर्षण देखने को मिलेगा।

वहीं ऑफिस में अधिकारी और साथ काम करने वाले आपका काम में पूरा सहयोग करेंगे। जिसके चलते आपकी रचनात्मकता और संगठनात्मक कौशल में वृद्धि होगी। घर में शांतिपूर्ण वातावरण के बीच दान-पुण्य करने से आपको मानसिक शांति मिलेगी।

उपाय: बुध के बीज मंत्र का जाप करें।

6. कन्या राशि (Virgo)
वक्री बुध इस समय आपके नवम भाव में रहेगा। यह गोचर आपके किस्मत का दरवाजा खोल सकता है।इस गोचर के दौरान आपको कड़ी मेहनत और प्रयासों के बाद शानदार परिणाम प्राप्त होंगे। जिसके चलते आपको समाज में मान-सम्मान के अलावा कार्यस्थल पर भी आपकी एक मेहनती व्यक्ति के तौर पर छवि बनेगी।

ऐसे में आपको अपनी सामाजिक स्थिति में वृद्धि के साथ नए नौकरी के प्रस्ताव और वित्तीय लाभ प्राप्त होंगे। इस अवधि के दौरान आर्थिक लाभ की संभावना के बीच आपमें विदेश में उच्च शिक्षा की इच्छा बढ़ेगी। लेकिन ध्यान रहे इस समय आपको स्वास्थ्य संबंधी कुछ परेशानियों से भी जुझना पड़ सकता है, जिससे बचने के लिए आपको अपनी सेहत का खास ख्याल रखना होगा।

उपाय: बुधवार के दिन कनिष्ठ उंगली में किसी जानकार की सलाह पर ही पन्ना धारण करेंं।

Must Read : चीन पर आ रहा है शनि का साया, जानें किस ओर है ग्रहों का इशारा

https://www.patrika.com/religion-and-spirituality/will-china-break-in-parts-this-signal-gives-astrological-planet-shani-6801730/

7. तुला राशि (Libra)
वक्री बुध इस समय आपके अष्टम भाव में रहेगा। इस समय आपको अपनी वाणी पर संयम रखना होगा। साथ ही आपको आर्थिक मामलों को लेकर बहुत संभलकर रहना होगा अन्यथा अचानक धन हानि हो सकती है।

उचित होगा इस समय कोर्ट-कचहरी के चक्कर में ना पड़ें। प्रेमी रिश्ते में यह समय कुछ उतार-चढ़ाव वाला रह सकता हैं। इसके साथ ही इस दौरान आपको अपने कार्यस्थल या फिर व्यवसायिक स्थल पर भी सावधानी बरतनी होगी।

उपाय: विष्णु सहस्त्रनम स्त्रोत का जाप करें।

 

8. वृश्चिक राशि (Scorpio)
वक्री बुध इस समय आपके सप्तम भाव में रहेगा। इस समय आपकी मुश्किलें बढ़ने की संभावनाओं के बीच दांपत्य जीवन में काफी उतार-चढ़ाव आ सकते हैं। इस समय पारिवारिक जीवन कष्टमय हो सकता है। ऐसे में वाणी पर संयम रखना हितकर होगा। लेकिन, कार्यक्षेत्र में सफलता और लाभ मिलने के योग के बीच व्यवसाय या किसी साझेदारी में रहने वाले जातकों के लिए लाभ का समय है। दांपत्य जीवन में मनमुटाव के साथ ही प्रेमी जोड़ों के लिए भी यह समय शुभ नहीं है।

उपाय: हर रोज गणेश मंदिर के दर्शन करें व गाय को हरा चारा खिलाएं।


9. धनु राशि (Sagittarius)
वक्री बुध इस समय आपके छठे भाव में रहेगा। यह समय कार्यक्षेत्र में आपके लिए अच्छा रहने की संभावना है, नौकरी में तरक्की के योग बन रहे हैं। वहीं इस समय व्यापारी वर्ग को अपने व्यापार के विस्तार की योजनाओं पर ध्यान देने की जरूरत होगी। लेकिन स्वास्थ्य के लिए यह समय शुभ नहीं दिख रहा, अत: सेहत को लेकर सतर्क रहें।

वहीं आपमें से कुछ को अनावश्यक खर्चों में वृद्धि से आर्थिक स्तर पर भी कुछ समस्याएं महसूस होंगी। उचित होगा इस समय अच्छा बजट प्लान करके चलें और सोच-समझकर पैसा खर्च करें। वहीं नौकरीपेशा जातक अच्छा प्रदर्शन करके लाभ प्राप्त कर सकेंगे। आप अपने हर कार्य में इस दौरान सतर्क रहें।

उपाय: संकटमोचन गणेश स्तोत्र का पाठ करें व दुर्वा अर्पित करें।

 

10. मकर राशि (Capricorn)
वक्री बुध इस समय आपके पांचवे भाव में रहेगा। यह गोचर विद्यार्थियों के लिए काफी अच्छा रहने की संभावना है।वहीं इस दौरान आध्यात्मिक प्रवृत्ति में इजाफे के चलते आपको लाभ मिलने की भी संभावना है। इसके अलावा इस समय आपका प्रेम जीवन भी काफी रोमांटिक रहने की संभावना है।

उच्च शिक्षा ग्रहण कर रहे विद्याार्थियों को इस गोचर का लाभ मिलने की संभावना के साथ ही उन जातकों के लिए भी यह समय अच्छा रहेगा, जो प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग ले रहे हैं,इस समय आप उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए दूसरे स्थान पर भी जा सकते हैं।

उपाय: विष्णु सहस्त्रनम स्त्रोत का जाप करें।

Must read : बुधवार के दिन श्री गणेश की ऐसे करें पूजा और पाएं आर्शीवाद

https://www.patrika.com/astrology-and-spirituality/the-day-of-shri-ganesh-is-wednesday-6695853/

11. कुंभ राशि (Aquarius)
वक्री बुध इस समय आपके चौथे भाव में रहेगा। इस समय पद और प्रतिष्ठा में वृद्धि के अलावा आपके शत्रु परास्‍त होंगे। वहीं अचानक धन लाभ की संभावना के बीच कार्यक्षेत्र में माहौल भी आपके अनुकूल रहेगा। जानकारों के अनुसार इस दौरान कार्यक्षेत्र में आप जो भी कार्य करेंगे उसका ही फल आपको प्राप्त होगा।

वहीं विद्यार्थियों को प्रतियोगी परीक्षा में सफलता मिल सकती है। साथ ही आपकी अंतर्दृष्टि भविष्य में आपके कार्यों को सही रूप से करने में आपकी मदद कर सकती है। इस गोचर के दौरान संतान पक्ष को लेकर चिंता रहेगी। विद्यार्थियों को पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। इस समय वाहन चलाते समय सावधानी रखनी होगी।

उपाय: भगवान गणेश के गणेश अथर्वशीर्ष का पाठ करें और उन्हें दुर्वा अर्पित करें।

12. मीन राशि (Pisces)
वक्री बुध इस समय आपके तीसरे भाव में रहेगा। यह समय आपके लिए ठीक ही रहेगा। इस समय संचार क्षमताओं में वृद्धि के कारण आपको लाभ भी होगा। इस दौरान आपमें बौद्धिक शक्ति का भी विकास होगा, जिससे आप लोगों को प्रभावित कर पाएंगे और सामाजिक सम्मान में वृद्धि होगी।

इस समय आप कई स्रोतों से धन कमा सकते हैं। वहीं इस समय बुध कार्यों को पूरा करने के प्रति आपमें दृढ़ता का भाव लाएगा। उचित होगा बुध के वक्री गोचर के दौरान यात्राएं न करें। इसके अलावा इस समय वैवाहिक जीवन सुखमय रहेगा, लेकिन स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही आपके लिए नुकसानदेह हो सकती है।

उपाय: गणेश मंदिर का हर रोज दर्शन करें साथ ही वहां कुछ दान भी करें।















Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here