Covid-19: बिहार में कोरोना वायरस से स्वास्थ्य विभाग के अपर सचिव सहित 54 की मौत, 12672 नए मामले

0
163


कोरोना का कहर : कई राज्यों में केस तो कईयों में एक दिन में सबसे ज्यादा मौतें , जानें-अपने प्रदेश का हाल

रविशंकर चौधरी कोरोना संक्रमित होने पर करीब एक सप्ताह पूर्व पटना एम्स में भर्ती हुए थे, जहां इलाज के दौरान शुक्रवार को उन्होंने दम तोड़ दिया . स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, बिहार में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण से जिन 54 मरीजों की मौत हुई उनमें पटना में 13, मुजफ्फरपुर में सात, पश्चिम चंपारण में पांच, गया एवं नालंदा में चार-चार, दरभंगा में तीन, भागलपुर, भोजपुर एवं शेखपुरा में दो-दो तथा अरवल, बांका, बेगूसराय, कैमूर, खगड़िया, मधुबनी, नवादा, रोहतास, सहरसा, समस्तीपुर, सारण एवं सिवान में एक-एक मरीज की मौत हो गई.

बिहार में बृहस्पतिवार अपराह्न चार बजे से शुक्रवार चार बजे तक कोरोना वायरस संक्रमण के जो 12672 नए मामले प्रकाश में आए हैं, उनमें प्रदेश की राजधानी पटना में सबसे अधिक 2801 मामले शामिल हैं. बिहार में कोरोना संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित अन्य प्रमुख जिलों में अररिया में 118, अरवल में 127, औरंगाबाद में 748, बांका में 59, बेगूसराय में 607, भागलपुर में 375, भोजपुर में 112, बक्सर में 181, दरभंगा में 98, पूर्वी चंपारण में 203, गया में 816, जमुई में 223, जहानाबाद में 191, कैमूर में 153, कटिहार में 216, खगड़िया में 253, किशनगंज में 54, लखीसराय में 133, मधेपुरा में 168, मधुबनी में 229, मुंगेर में 383, मुजफ्फरपुर में 704, नालंदा में 347, नवादा में 76, पूर्णिया में 389, रोहतास में 396, सहरसा में 129, समस्तीपुर में 224, सारण में 617, शिवहर में 54, सीतामढ़ी में 74, सिवान में 279, सुपौल में 214, वैशाली में 340 तथा पश्चिम चंपारण में 354 मामले पिछले 24 घंटों के दौरान प्रकाश में आए हैं.

कोरोना संकट के बीच गंभीर मरीजों के लिए ‘फरिश्‍ता’ बने बिहार के ‘ऑक्‍सीजन मैन’

बिहार में अब तक 300012 मरीज ठीक हुए हैं, जिनमें पिछले 24 घंटे के भीतर ठीक हुए 6067 मरीज भी शामिल हैं.

बिहार में पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 108147 नमूनों की जांच की गयी. राज्य में फिलहाल 76419 मरीज उपचाराधीन हैं. बिहार में बृहस्पतिवार को 77466 लोगों ने कोविड 19 का टीका लगवाया और प्रदेश में अब तक 6463259 लोग टीका लगवा चुके हैं. इस बीच, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना स्थित इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में कोविड-19 के मरीजों का इलाज निशुल्क किए जाने की घोषणा की है. मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक, इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में कोविड-19 के मरीजों के चिकित्सीय सेवाओं एवं दवाओं पर हुए खर्च का वहन राज्य सरकार करेगी.

बिहार के अस्पतालों में भी ऑक्सीजन संकट

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here