EPFO: पीएफ खाते में आ गया है पैसा, फटाफट ऐसे करें चेक

[ad_1]

how to check PF balance EPF interest credit in PF Account- India TV Paisa

how to check PF balance EPF interest credit in PF Account

नई दिल्ली। नए साल पर मोदी सरकार ने कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के 6 करोड़ से अधिक अंशधारकों को नए साल का तोहफा दिया है। EPFO के करीब 6 करोड़ से अधिक सदस्य कर्मचारियों के पीएफ खातों में ब्याज की राशि ट्रांसफर करना शुरू कर दिया है। केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने इस बारे में 31 दिसंबर को घोषणा की थी। सरकार ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) खातों पर 8.5 प्रतिशत के ब्याज की राशि डालनी शुरू कर दी है।

केंद्रीय श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने कहा, ‘मुझे EPF के 6 करोड़ खाता धारकों को यह सूचना देते हुए खुशी हो रही है कि सरकार ने उनके खाते में 8.5 प्रतिशत की दर से ब्याज राशि जारी कर दी है. लोग अपने खातों से इस धनराशि को निकाल सकते हैं। EPFO खाता धारक घर बैठे अपना PF बैलेंस भी चेक कर सकते हैं. इसके लिए वे SMS, ऑनलाइन, मिस्ड कॉल या UMANG App का सहारा ले सकते हैं।

एसएमएस के जरिए पता कर सकते हैं पीएफ बैलेंस

  • अगर आपका यूएएन नंबर ईपीएफओ के पास रजिस्टर्ड है तो आपके पीएफ के बैलेंस की जानकारी मैसेज के जरिए मिल जाएगी। इसके लिए आपको 7738299899 पर EPFOHO UAN ENG ( आखरी तीन अक्षर भाषा के लिए है।) लिखकर भेजना होगा। आपके पीएफ की जानकारी मैसेज के जरिए मिल जाएगी।
  • अगर आपको हिंदी भाषा में जानकारी चाहिए तो EPFOHO UAN HIN लिखकर भेजना होगा। पीएफ बैलेंस जानने की यह सेवा अंग्रेजी, पंजाबी, मराठी, हिंदी, कन्नड़, तेलगू, तमिल, मलयालम और बंगाली में मिल रही है। पीएफ बैलेंस के लिए जरूरी है कि आपका यूएएन,  बैंक एकाउंट, पैन (PAN) और आधार (AADHAR) से लिंक्ड हो। 
  • ईपीएफओ की वेबसाइट पर अपनी पासबुक पर बैलेंस चेक कर सकते हैं। पासबुक देखने के लिए यूएन नंबर होना जरूरी है। 

बिना यूएएन के ऐसे जानें पीएफ बैलेंस

  • सबसे पहले Epfindia.gov.in पर लॉग ऑन करें.
  • इसके बाद “Click Here to Know your EPF Balanc” लिंक पर क्लिक करें।
  • आप in/epfo/ पर रीडायरेक्ट हो जाएंगे. अब आपको “Member Balance Information” टैब पर क्लिक करना है।
  • अपना राज्य चुनें और अपने ईपीएफओ ऑफिस लिंक पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपको अपना पीएफ अकाउंट नंबर, नाम और रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर दर्ज करना है।
  • आपको सबमिट पर क्लिक करना होगा. क्लिक करते ही आपको अपना पीएफ बैलेंस स्क्रीन पर दिखाई देगा।

मिस्ड कॉल के जरिए ऐसे चेक करें पीएफ बैलेंस

अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 011-22901406 पर मिस्ड कॉल दें। इसके बाद ईपीएफओ के संदेश के जरिए पीएफ की डिटेल मिल जाएगी। मिस्ड कॉल के जरिए पीएफ बैलेंस चेक करने के लिए आपका यूएएन, पैन और आधार लिंक होना जरूरी है। 

ऐसे ऑनलाइन चेक करें पीएफ बैलेंस

  • ईपीएफओ की वेबसाइट पर लॉग इन करें। epfindia.gov.in पर ई-पासबुक पर क्लिक करें।
  • ई-पासबुक पर क्लिक करने पर एक नए पेज passbook.epfindia.gov.in पर आ जाएंगे।
  • यहां आपको अपना यूजर नाम (UAN नंबर), पासवर्ड और कैप्चा भरना होगा।
  • सभी डिटेल्स भरने के बाद एक नए पेज पर आ जाएंगे और यहां मेंबर आईडी का चुनाव करना होगा।
  • यहां ई-पासबुक पर अपना ईपीएफ बैलेंस मिल जाएगा। 

उमंग ऐप पर भी चेक कर सकते हैं बैलेंस 

  • अपना उमंग ऐप (Unified Mobile Application for New-age Governance) खोलें और ईपीएफओ पर क्लिक करें।
  • आपको एक अन्य पेज पर इम्पलॉयी-सेंट्रिक सर्विस (employee-centric services) पर क्लिक करना होगा।
  • यहां व्यू पासबुक पर क्लिक करें। अपना यूएएन नंबर और पासवर्ड (ओटीपी) नंबर भरें। ओटीपी आपको अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आ जाएगा। इसके बाद आप अपना पीएफ बैलेंस चेक कर सकते हैं। 

कितना पैसा निकाल सकते हैं

  • पीएफ अकाउंट से पूर्ण निकासी केवल दो ही स्थितियों में हो सकती है। रिटायरमेंट के बाद या फिर कर्मचारी के दो महीने से अधिक बेरोजगार रहने पर।
  • ईपीएफ सदस्य के एक महीने तक बेरोजगार रहने पर पेंशन फंड से अपनी कुल पीएफ राशि के 75 फीसद हिस्से की निकासी की जा सकती है।

जानिए क्या होता है यूएएन नंबर

ईपीएफओ यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) की सर्विस देता है जिसके जरिए खाता धारक अपने पीएफ अकाउंट बैलेंस देख सकते हैं। ये नंबर बैंक अकाउंट की तरह ही होता है।UAN एक 12 अंकों का यूनिक नंबर होता है। यह एक स्थाई नंबर होता है। UAN एक सदस्य के पूरे जीवनकाल तक वैध होता है। UAN नंबर को कर्मचारी का नियोक्ता जनरेट कर सकता है। नौकरी बदलने के मामले में, पूर्व में आवंटित UAN ही नियोक्ता द्वारा प्रदान किया जा सकता है।

EPF अकाउंट से जुड़ी समस्या के लिए यहां करें शिकायत

EPFO के पीएफ मेंबर्स, पेंशनर्स, एंप्लॉयर ‘EPF I Grievance Management System’ पर जाकर शिकायत दर्ज कर सकते हैं. यानी अगर किसी EPF खाताधारक को ईपीएफ निकासी, ईपीएफ खाते के ट्रांसफर, केवाईसी आदि से जुड़ी कोई शिकायत है तो वह इस ग्रीवांस मैनेजमेंट सिस्टम के जरिए शिकायत दर्ज कर सकता हे। इसके अलावा EPFO के ट्विटर हैंडल @socialepfo पर भी आप शिकायत या क्वेरी डाल सकते हैं। 

ग्रीवांस मैनेजमेंट सिस्टम के जरिए ऐसे करें शिकायत

  • सबसे पहले https://epfigms.gov.in/ पर जाएं।
  • शिकायत दर्ज करने के लिए ‘रजिस्टर ग्रीवांस’ पर क्लिक करें।
  • अब एक नया वेबपेज खुल जाएगा। इसमें उस स्टेटस को चुनें, जिसमें शिकायत दर्ज कर रहे हैं। स्टेटस से अर्थ पीएफ मेंबर, ईपीएस पेंशनर, इंप्लॉयर या अन्य से है। ‘अन्य’ का विकल्प तभी चुनें अगर आपके पास यूएएन/पेंशन पेमेंट ऑर्डर (PPO) नहीं है।
  • पीएफ अकाउंट संबंधी शिकायत के लिए ‘पीएफ मेंबर’ स्टेटस चुनना होगा। इसके बाद यूएएन और सिक्योरिटी कोड दर्ज कर ‘गेट डिटेल्स’ पर क्लिक करें।
  • यूएनएन से लिंक मास्क्ड (छिपी हुई) पर्सनल डिटेल कंप्यूटर स्क्रीन पर दिखने लगेंगी।
  • अब ‘गेट ओटीपी’ पर क्लिक करें. इसके बाद ईपीएफओ डेटाबेस में आपके रजिस्टर मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी पर वन-टाइम पासवर्ड भेजा जाएगा।
  • ओटीपी एंटर करने के बाद यह वेरिफाई होगा और फिर आपसे पर्सनल डिटेल मांगी जाएगी।
  • पर्सनल डिटेल डालने के बाद उस पीएफ नंबर पर क्लिक करें, जिसके संबंध में शिकायत दर्ज करनी है।
  • अब स्क्रीन पर एक पॉप-अप दिखेगा, इसमें रेडियो बटन को चुनें जिससे आपकी शिकायत जुड़ी है।
  • ग्रीवांस कैटेगरी को सिलेक्ट कर अपनी शिकायत का ब्यौरा दें. अगर आपके पास कोई सबूत हैं तो उन्हें अपलोड किया जा सकता है।
  • शिकायत दर्ज हो जाने पर ‘ऐड’ पर क्लिक कर और सबमिट पर क्लिक करें।
  • इसके बाद शिकायत दर्ज हो जाएगी और आपके रजिस्टर्ड ईमेल और मोबाइल नंबर पर कम्प्लेंट रजिस्ट्रेशन नंबर आएगा, इसे संभालकर रखें।

ऐसे चेक करें शिकायत का स्टेटस

  • EPFO को शिकायत दर्ज करने के बाद आप उसका स्टेटस भी ट्रैक कर सकते हैं. इसके लिए https://epfigms.gov.in/ पर जाएं।
  • इसके बाद ‘व्यू स्टेटस’ विकल्प को चुनें।
  • फिर कंप्लेंट रजिस्ट्रेशन नंबर और मोबाइल नंबर/ईमेल आईडी और सिक्योरिटी कोड दर्ज कर सबमिट करें।
  • अब कंप्यूटर स्क्रीन पर शिकायत का स्टेटस दिखने लगेगा। यह भी शो होगा कि ईपीएफओ का कौन सा क्षेत्रीय कार्यालय आपकी शिकायत पर काम कर रहा है और अधिकारी का भी नाम आएगा। अगर क्षेत्रीय ईपीएफओ के कार्यालय से संपर्क करना चाहते हैं, तो स्क्रीन पर ईमेल एड्रेस और फोन नंबर डिस्प्ले किया जाएगा।

 



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Main Menu