सरकार का दावा- कोरोना के सभी वेरिएंट डिटेक्ट कर सकता है RT-PCR टेस्ट

0
151


देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. कोरोना की दूसरी लहर पहले से भी ज्यादा खतरनाक नजर आ रही है. इस बीच कोविड के नए वेरिएंट को लेकर ये भी दावे किए जा रहें है कि वायरस की जांच के लिए सबसे बेहतरीन पैमाना माने जाने वाले RT-PCR टेस्ट में भी इसका पता नहीं चल रहा है. हालांकि केंद्र सरकार ने शुक्रवार को इन सभी दावों को दरकिनार करते हुए कहा है कि RT-PCR जांच, देश में मौजूद सभी कोविड वेरिएंट को डिटेक्ट करने में सक्षम है. 

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी बयान के अनुसार, “भारत में जो RT-PCR टेस्ट इस्तेमाल किए जा रहे हैं वो वायरस के नए म्यूटेशन को भी पकड़ने में सफल रहे हैं. ऐसा इसलिए है क्योंकि यहां ये टेस्ट दो से ज्यादा जीन्स को टारगेट करते हैं.”

क्लिनिकल डाटा साझा नहीं कर रहे हैं कई राज्य 

साथ ही मंत्रालय ने इस बात पर भी चिंता जताई कि कई राज्य अपने यहां आए कोविड पॉजिटिव मामलों का क्लीनिकल डाटा नहीं साझा कर रहे हैं, जबकि उन्हें ऐसा करने के दिशानिर्देश पहले ही दिए जा चुके थे. मंत्रालय ने कहा, “महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान और केरल समेत कई राज्यों ने हमारे साथ ये डाटा शेयर नहीं किया है. केवल पंजाब और दिल्ली ने ही हमें संबंधित जानकारी उपलब्ध करायी है.” 

हेल्थ एक्सपर्ट ने माना था पकड़ में नहीं आ रहे नए वेरिएंट 

बता दें कि कई हेल्थ एक्सपर्ट ने माना है कि देश में बढ़ते केस का कारण कोविड के नए वेरिएंट हैं. दिल्ली के अस्पतालों का कहना है कि कई मामलों में वायरस अब पकड़ में भी नहीं आ रहा है. कई मामले ऐसे आ रहे हैं, जिसमें मरीज को कोविड-19 से जुड़े सभी लक्षण होते हैं, इसके बावजूद वे निगेटिव आते हैं. यहां तक कि वायरस की जांच के लिए सबसे बेहतरीन पैमाना माने जाने वाले RT-PCR जांच में भी इसका पता नहीं चल रहा है. कुछ मामलों में तो दो तीन बार टेस्ट करवाने के बाद भी वायरस पकड़ में नहीं आ रहा है. जिसके बाद लोगों की चिंता बढ़ गई है.

यह भी पढ़ें

बंगाल चुनाव: आज पीएम मोदी की दो और ममता बनर्जी की तीन जनसभा, 5वें चरण की वोटिंग जारी

WB Election 2021 Phase 5 Voting Live: बंगाल के मतदान केंद्रों पर भारी भीड़, नदिया जिले में BJP-TMC कार्यकर्ता भिड़े

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here