Health Tips: डायबिटीज और मीठे के क्रेविंग को कम करने में बेजोड़ है खजूर, इस समय पर खाने से होगा लाभ

0
78


Health Tips: खजूर कई बीमार‍ियों को दूर करने में सक्षम है. आयरन, मिनरल, कैल्शियम, अमीनो एसिड, फॉस्फोरस और विटामिन्स से भरपूर खजूर आपकी सेहत के साथ खूबसूरती निखारने का भी काम करता है. ग्लूकोज़ और फ्रक्टोज़ का खज़ाना खजूर डायबिटीज में सहायक होने के साथ ही इम्यून पावर को भी बूस्ट करता है. डायबिटीज के मरीजों के लिए बनाई जाने वाली मिठाई में खजूर का इस्तेमाल किया जाता है. खजूर में कोलेस्ट्रोल नहीं होता है और एक खजूर से 23 कैलोरी मिलती है. इसके साथ ही यह सेल डैमेज, कैंसर से बचाव और दिल से जुड़ी समस्याओं से बचाव में भी बहुत कारगर है. खजूर में मौजूद फाइबर आपके दिल को मजबूत और सेहतमंद बनाने का काम करते हैं. वहीं इसमें मौजूद पोटैश‍ियम हार्ट अटैक के खतरे को कम करता है. खजूर का फाइबर, आपके पाचन तंत्र की सफाई करने के लिए भी काम आता है. हालांकि जब आपको भूख लगे तब आप खजूर खा सकते हैं, पर कुछ तय समय पर खजूर खाने से आपको इसके कई स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं. इसलिए आज हम आपको खजूर खाने के सही समय की पूरी जानकारी देंगे.

नाश्ते के समय


अगर आप सुबह-सुबह अपने आहार में प्राकृतिक मिठास और फाइबर जोड़ना चाहते हैं तो खजूर का इस्तेमाल करें. इसकी उच्च फाइबर सामग्री आपको सुबह से शाम तक भरा हुआ महसूस करवाती है. ये आपके खाने के मैक्रोन्यूट्रिएंट अनुपात को भी बैलेंस करता है. इसकी कार्ब, प्रोटीन, और फैट संरचना आपके पेट के लिए फायदेमंद है.

दोपहर के स्नैक्स में


खजूर फाइबर और मीठे का एक अच्छा स्रोत है. फाइबर और चीनी की यह जोड़ी ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद करती है. भूखे होने पर खजूर खाने से आपके शरीर में मैजूद कैलोरी बैलेंस्ड रहती है.

वर्कआउट से पहले

खजूर में शुगर स्वाभाविक रूप से अधिक होने के बाद भी ये हेल्दी होते हैं. ये एक प्रकार की धीमी गति से रिलीज़ होने वाली कार्ब प्रदान करते हैं, जो आपके वर्कआउट को तेज़ करने में मदद करता है. इसीलिए ये ज़रूरी है कि वर्कआउट से 30-60 मिनट पहले कम से कम 2-4 खजूर खाएं.

नाइट स्नैक्स के रूप में

खजूर में फाइबर की मात्र ज़्यादा होने के कारण कई लोग इसका सेवन नाइट स्नैक्स के तौर पर करते हैं. फाइबर को पचने में अधिक समय लगता है, जो आपको भरा महसूस करने में मदद कर सकता है और आधी रात में लगने वाली भूख को दबा सकता है. इसके अलावा अगर रात में मीठे की क्रेविंग की समस्या से आप परेशान हैं तो खजूर खाएं.

कब आपको खजूर नहीं खाना चाहिए?

1. आपको आंत्र सिंड्रोम (IBS) है तो आपको इसे खाने से बचना चाहिए. IBS वाले लोग FODMAPs वाले खाद्य पदार्थों के प्रति संवेदनशील हो सकते हैं, जो कि छोटे-चेन वाले कार्ब्स जैसे कि खजूर को पचा नहीं पाते हैं.

2. कमजोर लिवर वाले लोगों को भी ज़्यादा खजूर नहीं खाना चाहिए क्योंकि ये फ्रुक्टोज़ का एक महत्वपूर्ण स्रोत है, जो पेट को खराब कर सकता है.

3. भोजन के बाद खजूर खाने से बचें क्योंकि इसमें फाइबर अधिक होता है, जिसे पचने में ज़्यादा समय लगता है. नतीजन, ज़्यादा खाने के बाद बड़ी संख्या में खजूर खाने से आप बेहद भरा और असहज महसूस कर सकते हैं.

4. खजूर यूं तो शरीर के लिए हर मायने में फायदेमंह है पर अगर आपको एलर्जी है, तो आपको खजूर खाने से बचना चाहिए. अगर आपको लगता है कि खजूर खाने के बाद आपको खुजली या रैशेज़ होते हैं, तो डॉक्टर की सलाह पर ही खजूर का सेवन करें.

Chanakya Niti: इन दो कार्यों को करने से व्यक्ति को मिलती है सच्ची सुख शांति, आप भी कर सकते हैं



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here