Health Tips: इन 4 समय पर ग्रीन टी पीना हो सकता है बेहद नुकसानदेह

0
149


Health Tips: आप सबने ग्रीन टी के एक नहीं ढेर सारे फायदों के बारे में सुना होगा. ग्रीन टी को एक हर्बल चाय माना जाता है, जो आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मददगार होती है. सिर्फ सेहत ही नहीं, बल्कि आपकी ब्‍यूटी को निखारने में भी ग्रीन टी को अच्‍छा माना जाता है. यही वजह है कि ग्रीन टी ने इतनी लोकप्रियता हासिल की है और यह लोगों की एक पसंदीदा चायों में से एक है.

हालांकि, नियमित ग्रीन टी का सेवन करने से आपको वज़न घटाने में मदद मिलती है. लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि अगर आप इसी ग्रीन टी का सेवन गलत समय पर करते हैं, तो यह सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है. ऐसा करने से आपको इसके फायदों के बजाय नुकसान पहुंच सकता है. इसीलिए आज हम आपको बताएंगे कि किन -किन समय पर ग्रीन टी के सेवन से बचना चाहिए.

1. सुबह उठते ही सबसे पहले ग्रीन टी पीना

कुछ लोग, जो कि ग्रीन टी पीना पसंद करते हैं, वह अपनी सामान्‍य कॉफी या चाय की जगह सुबह सबसे पहले उठकर ग्रीन टी पीते हैं. ऐसा करना अच्‍छा नहीं है, क्‍योंकि खाली पेट ग्रीन टी का सेवन आपके मेटाबॉलिज्म को बिगाड़ सकता है. ग्रीन टी में मौजूद मजबूत एंटीऑक्सिडेंट और पॉलीफेनोल्स, गैस्ट्रिक एसिड के उत्पादन को बढ़ाते हैं, जो संभवतः आपके पेट की परेशानी की वजह बन सकता है.

2. भोजन के साथ या उसके ठीक बाद

कुछ लोगों का मानना होता है कि खाने के ठीक बाद चाय पीने से खाना जल्‍दी पच जाता है, यह एक बहुत बड़ी गलतफहमी है. ग्रीन टी की बात करें, तो हालांकि ग्रीन टी आपके पाचन में सुधार करती है, लेकिन अगर आप इसे अपने भोजन के साथ या उसके तुरंत बाद पीते हैं, तो यह भोजन से पोषक तत्वों के अवशोषण को कम कर सकती है. आपका ऐसा करना लंबे समय में पोषक तत्वों की कमी पैदा कर सकता है. इसलिए कोशिश करें कि आप खाने के साथ या तुरंत बाद ग्रीन टी न पिएं और खाने और चाय के बीच कम से कम 1-2 घंटे का गैप रखें.

3. दवा खाने के ठीक बाद

यदि आप दवा के साथ या दवा के बाद ग्रीन टी लेते हैं, तो आप अपनी इस आदत को तुरंत रोकें या बंद करें. ऐसा इसलिए क्‍योंकि दवा लेने के बाद ग्रीन टी का सेवन बेहद हानिकारक हो सकता है. दवाओं में मौजूद रसायन ग्रीन टी के साथ प्रतिक्रिया कर सकते हैं, जिससे एसिडिटी या पेट की अन्‍य समस्‍याएं पैदा हो सकती हैं. इसलिए, दवाओं का सेवन सादे पानी के साथ करना ही बेहतर है.

4. सोने से पहले

ग्रीन टी हो या कोई सामान्‍य चाय, सोने से पहले आपको हमेशा कोशिश करनी चाहिए कि आप चाय न पिएं. ऐसा इसलिए क्‍योंकि अगर आपको नींद से संबंधित समस्याएं हैं, तो इससे आपको सोने में और तकलीफ हो सकती है. बता दें कि, ग्रीन टी में कैफीन होता है, जो कि मेलाटोनिन के रिलीज़ होने को बाधित कर सकता है. इससे आपको अच्‍छी या उचित नींद आने में परेशानी हो सकती है, जो कई मामलों में एक वक़्त के बाद अनिंद्रा की समस्‍या पैदा कर सकता है. इसलिए आपको सोने से पहले ग्रीन टी के सेवन से बचना चाहिए. इसके अलावा, आप चाय के साथ नट्स, हरी सब्‍जी या दूध के साथ दही आदि गलत कॉम्‍बीनेशन से भी बचें.

अगर आपको कोई भी स्‍वास्‍‍थ्‍य समस्‍या है, तो आप अपने खानपान में डॉक्‍टरी सलाह जरूर लें. साथ ही, किसी भी चीज़ के सेवन से पहले उसके सकारात्‍मक तथ्‍यों के साथ-साथ उसके नकारात्‍मक तथ्‍यों को भी जान लें. इसके अलावा, आप एक दिन में 2 से 3 कप से अधिक ग्रीन टी का सेवन न करें. ग्रीन टी को मॉडरेशन के साथ लेना ही बेहतर है.

Chanakya Niti: शत्रु को सबक सिखाना है तो चाणक्य की इन बातों को कभी न भूलें, जानिए आज की चाणक्य नीति



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here