Health Tips: सीजनल फ्लू, बुखार या खांसी-जुकाम से कैसे बचें? अपनाएं ये खास घरेलू नुस्खे

0
16


कोरोना महामारी के बीच लोगों को सीजनल बुखार, खांसी, जुकाम और फ्लू जैसी बीमारियां भी काफी हो रही हैं. बदलते मौसम में हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है. जिसकी वजह से शरीर किसी भी बीमारी के चपेट में जल्दी आ जाता है. खासतौर से बच्चे और बुजुर्ग सबसे ज्यादा बीमार पड़ते हैं. लेकिन थोड़ा एहतियात और डाइट में कुछ खास चीजों को शामिल किया जाए तो इन बीमारियों से बचा जा सकता है.

आपको बता दें कि नॉर्मल फ्लू के लक्षण भी कोविड-19 से मिलते-जुलते हैं. इसलिए हमें ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है. अगर आपको बुखार, खांसी, जुकाम या फ्लू न हो, इसके लिए हम कुछ आसान घरेलू नुस्खे बता रहे हैं. जिन्हें अपनाकर आप खुद को और अपने परिवार को सीजनल बीमारियों और कोल्ड-कफ से बचा सकते हैं.

सीजनल फ्लू और उसके लक्षण?

सामान्य फ्लू और कोविड-19 के लक्षण काफी हद तक एक जैसे हैं. यही वजह है कि कई लोग नॉर्मल सीजनल फ्लू होने की वजह से भी काफी परेशान हो रहे हैं. अस्पतालों में भी ऐसे मरीजों की संख्या काफी बढ़ रही है. आपको बता दें कि सामान्य फ्लू 5-6 दिन में ठीक हो जाता है इसलिए बेहतर है कि आप घर पर ही अपना ट्रीटमेंट लें. यहां हम आपको सामान्य फ्लू के लक्षणों के बारे में बता रहे हैं.

-बुखार आना.

-पूरे शरीर में दर्द होना.

-मांसपेशियों में खिंचाव महसूस होना.

-बार-बार खांसी आना.

-नाक बंद हो जाना.

-नाक में चुभन या दर्द महसूस होना.

-सिर में दर्द होना.

अगर ये लक्षण आपको महसूस हो रहे हैं तो आपको सीजनल फ्लू भी हो सकता है. बेहतर होगा 2-4 दिन इंतजार करें. उसके बाद ही कोविड-19 का टेस्ट कराएं.

सीजनल फ्लू  के लिए घरेलू नुस्खे

वायरल बुखार, फ्लू और वायरस से बचने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे भी हैं. ये आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए जरूरी है. इसके लिए आपको अपने खानपान में थोड़े बदलाव करना होगा.

हल्दी वाला दूध पिएं

सबसे पहले आपको रोज हल्दी वाला दूध पीना है. हल्दी का दूध चूंकि गर्म होता है और हल्दी एंटीबायोटिक का काम करती है. इसलिए इसे सर्दियों में ज्यादा पीया जाता है. लेकिन इन दिनों चारों तरफ फैली बीमारियों की वजह से आप रोजाना रात में सोने से पहले एक ग्लास हल्दी वाला दूध जरूर पिएं. इसे बनाना बहुत आसान है. आप एक ग्लास गुनगुने दूध में एक चौथाई चम्मच हल्दी मिलाएं और इसे पी लें. अगर आपको इसका स्वाद अच्छा नहीं लग रहा हो तो आप हल्दी डालकर दूध को एक बार उबाल लें. इससे हल्दी की महक खत्म हो जाएगी. इस दूध को पीने से आप सर्दी खांसी और वायरल से बचे रहेंगे.

च्वनप्राश जरूर खाएं

वैसे तो च्वनप्राश भी लोग सर्दियों के मौसम में ही खाते हैं लेकिन बदलते मौसम में आपको च्वनप्राश जरूर खाना चाहिए. आयुर्वेद में च्वनप्राश को एक औषधि माना जाता है जो आपको कई तरह के इनफेक्शन से बचाता है. रोज रात को दूध के साथ एक चम्मच च्वनप्राश खाने की कोशिश करें.

जुकाम-खांसी के लिए भाप लें

अगर आपको जुकाम खांसी की समस्या हो गई है तो आपके लिए भाप लेने से बेहतर कोई दूसरा घरेलू उपाय नहीं है. भाप लेने से बंद नाक खुलती है और सांस नली की सूजन भी कम होती है. आप चाहें तो नॉर्मल पानी की भाप लें या फिर पानी में कुछ बूंदें टी ट्री ऑयल, यूकेलिप्टस ऑयल, लेमनग्रास ऑयल, लौंग का तेल भी डाल सकते हैं. भाप लेने से आपकी बंद नाक खुल जाएगी और सीने में जकड़न में भी आराम पड़ेगा.

अगर आपको खांसी और गले में खराश या दर्द है तो आपको दिन में एक बार गर्म पानी में पुदीने की पत्तियां या फिर अजवाइन की पत्तियां डालकर भाप लेनी चाहिए. इसके अलावा लौंग का सेवन करें आप चाहें तो लौंग को पीसकर इसे शहद के साथ मिलाकर दिन में 2-3 बार खा लें. इससे खांसी में काफी आराम मिलेगा. इसके अलावा खांसी जुकाम में तुलसी अदरक की चाय पीने से भी बहुत फायदा मिलता है. आप चाहें तो इस चाय में चीनी की जगह गुड़ का इस्तेमाल भी कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: ये बीमारियां गर्मी के मौसम में हैं आम, जानिए लक्षण और रोकथाम के तरीके

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here