Health Tips: किस सीज़न में कौन सा फल है आपके लिए न्यूट्रिशंस से भरपूर, जानें यहां

0
89


Health Tips: आजकल लोग पूरी साल हर तरह के फलों का लुफ्त उठाते हैं. लेकिन कुछ ऐसे फल भी होते हैं जो बेमौसम खाने के कारण शरीर को नुकसान पहुंचा सकते हैं. ऐसे में आपको पता होना चाहिए कि फल का सही मौसम कौन सा है और उसके सेवन का क्या तरीका है. अगर आपको इस बात की जानकारी पहले से ही होगी तो आप अपनी सेहत की देखभाल बेहतर तरीके से कर पाएंगे. तो आइये जानते हैं कि किस सीज़न में कौन सा फल खाने से आपके शरीर को मिल सकता है बेहद लाभ.

टमाटर (नवंबर से जनवरी)

जब भी टमाटर खरीदें तो ध्यान रखें कि वह लाल और सख्त हों. इनका प्रयोग आप सब्जी या सूप के रूप में भी कर सकते हैं. लेकिन अगर आपको किडनी या गोल ब्लैडर में स्टोन की समस्या है तो डॉक्टर इसका सेवन करने से मना करते हैं. बता दें कि यदि टमाटर सख्त है तो आप इन्हें 4 से 5 दिन फ्रिज में रख सकते हैं.

अनार (12 महीने खाए जाने वाला फल)

अनार को हमेशा रूम टेंपरेचर में रखने की सलाह दी जाती है. इन्हें फ्रिज में स्टोर करके नहीं रखा जाता क्योंकि इससे अनार जल्दी गल जाते हैं. अनार को काटने से पहले 10-15 मिनट तक पानी में भिगोकर रख देना चाहिए. इसे छिलका भी नर्म हो जाएगा और काटने में भी आसानी होगी. जैसा कि आप जानते हैं अनार में भरपूर मात्रा में आयरन पाया जाता है. इसके अलावा, इसमें विटामिन सी भी होता है. ऐसे में इनका सेवन करने पर आपका शरीर अवशोषण ज़्यादा अच्छे ढंग से कर पाता है अगर इसका नियमित रूप से सेवन हीमोग्लोबिन बढ़ाने में भी असरदार है.

सेब (अक्टूबर से मार्च)

कुछ लोग सेब को काट कर खाते हैं मगर सेब को काटकर खाना सही नहीं. साथ ही, अगर आपको हाई बीपी की बीमारी है तो सेब में नमक को न डालें. खाने से पहले सेब को गर्म पानी में भिगोकर और धोकर खाएं. आप उसे छिलके सहित खा सकते हैं.

अमरूद (अक्टूबर से जनवरी)

अमरूद केवल वही खरीदें जो सख्त और हल्के रंग के हों. पीले रंग के अमरूद के स्वाद में ताजगी नहीं मिलेगी. इसके अलावा, कब्ज की समस्या में अमरुद खाना बेहद फायदेमंद हो सकता है.

संतरा (नवंबर से मार्च)

कुछ लोग संतरे के हरे छिलके को देखकर ये समझ लेते हैं कि यह कच्चा है पर ऐसा नहीं है. जिन छिलकों में हल्का हरापन हो उनका जूस न निकालकर यदि आप उसे सीधे खाएं तो इसमें मौजूद फाइबर पाचन क्रिया को पूरी तरह दुरुस्त रखता है.

आम (मई से जुलाई)

क्या आप जानते हैं कि आम को पकाने के लिए कार्बाईड नामक हानिकारक केमिकल का इस्तेमाल होता है. इसलिए बेहतर होगा कि पक्के आम खरीदने से खुद को रोकें. इसे अखबार में लपेट कर रूम टेंपरेचर पर दो-चार दिनों तक रखा जा सकता है. आम खाने से पहले उसे आधे घंटे तक पानी में डुबोकर रखें और उसकी डंडी वाले हिस्से को काटने के बाद अच्छी तरह साफ करें. ध्यान रखें कि डायबिटीज के मरीजों को आम सीमित मात्रा में खाने चाहिए.

Chanakya Niti: चाणक्य नीति के अनुसार इन तीन चीजों से व्यक्ति को रहना चाहिए दूर, नहीं मिलती है सफलता



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here