Holi Shubh Muhurat and Pujan : राशि अनुसार करेंगे होलिका पूजन तो होगा लाभ

0
182


– कोरोना लॉकडाउन के बीच घर में ही ऐसे करें पूजा…
– विशेष मुहूर्त में होगा दहन, डेढ़ घंटे का ही है रहेगा समय…

मध्यप्रदेश शासन की 28 मार्च को कोरोना के कारण पूरे दिन लॉकडाउन की घोषणा से इस बार होलिका दहन के समय नागरिकों की उपस्थिति बहुत कम के बराबर होने का अनुमान है।

जानकारों की मानें तो ऐसे में होली के दिन घर ही अपने अपने इष्ट देवों की पूजा करने से कोरोना का संकट दूर करने में मदद मिल सकेगी। इस बार होलिका दहन का मुहूर्त करीब डेढ़ घंटे का रहेगा।

ज्योतिषी रवि जैन ने बताया फाल्गुन शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा रविवार को होली पर्व पर भद्रा रविवार को दोपहर 1 बजकर 52 मिनट पर समाप्त हो जाएगी। होली दहन का समय प्रदोष काल सूर्यास्त के बाद शाम को 6 बजकर 37 मिनट से 8 बजकर 59 मिनट के मध्य किया जाना उचित होगा।

वहीं होली के दहन के समय नागरिक अपने घरों में रहकर अपनी राशि के अनुसार इष्टदेव की पूजा व अर्चना व भोग तथा रंग अर्पण कर आर्शीवाद प्राप्त कर सकते हैं।

MUST READ : बेहद खास है कुमाऊं की खड़ी होली, वर्षों पुराना अंदाज आज भी है कायम

राशि अनुसार करें आराधना…

1. मेष राशि – माता दूर्गा जी की पूजा करे व इमरती या मोतीचूर के लड्डू का भोग लगाएं तथा लाल रंग चढ़ाएं।

2. वृषभ राशि – मां लक्ष्मी की पूजा करे, नारीयल या दूध से बनी मिठाई का भोग लगाएं तथा क्रीम कलर, सफेद या हरा रंग लगाएं।

3. मिथुन राशि – गणेश जी की पूजा करे तथा दौप व लड्डू का भोग लगाएं तथा लाल या हरा रंग चढ़ाएं।

4. कर्क राशि – शिव या चंद्रदेव की पूजा करे, सफेद रंग लगाएं तथा मिश्री का भोग लगाएं।

5. सिंह राशि – सूर्य देव अथवा देवी दूर्गा की पूजा करे तथा लाल रंग का प्रयोग एवं भोग गुलाब जामुन का भोग लगाएं।

6. कन्या राशि – गणेश जी अथवा ब्रह्मा जी पूजा करे तथा हरे रंग का प्रयोग करे व बेसन की बनी वस्तु का भोग लगाएं।

7. तुला राशि – मां लक्ष्मी शिव की आराधना करे, दूध से बनी वस्तु का भोग लगावे तथा हरे या क्रीम रंग लगाएं।

8. वृश्चिक राशि – देवी दूर्गा की पूजा करे तथा लाल वस्त्र पहनावे और खीर का भोग व लाल रंग को लगाएं।

9. धनु राशि – ब्रह्मा जी या लक्ष्मी जी की पूजा करे तथा गेहूॅ से बनी वस्तु का भोग व पीले या गुलाबी रंग को लगाएं।

10. मकर राशि – मं कालिका या शनिदेव की पूजा करे , तीलीे के तेल से बनी वस्तु का भोग व काले या हरे रंग का प्रयोग करें।

11. कुंभ राशि – शनिदेव या बजरंग बली की पूजा अर्चना करे, काले रंग या हरे रंग व गुड तथा चने का भोग लगाएं।

12. मीन राशि – सत्यनारायण देव की पूजा करे, हलवे का भोग व पीले या गुलाबी रंग का प्रयोग करें।

इस तरह दूर करें बाधा
जानकारों के अनुसार जलती हुई होली की अग्नि के चारों और सात बार परिक्रमा करने के बाद नारियल, पान,सुपारी डालने से नौकरी व कार्यों में असफलता संबंधित बाधाएं दूर हो सकती हैं।

वहीं ग्रह क्लेश को दूर करने के लिए जौ का आटा होली की अग्नि में डालेने से ग्रहशांति मिल सकती है। जबकि गाय के गोबर से बने कण्डे के साथ जौ ,अलसी के दाने या राई के दाने होली की आग में डालने से बूरी नजर दूर हो सकती है।

इसके अलावा होली की ठंडी भस्म को शरीर पर लगाने से स्वास्थ्य ठीक रहता है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here