IPL 2021, Expert’s Corner : अपनी गलतियों से सीखने की कोशिश नहीं कर रही राजस्थान रॉयल्स – अंजुम चोपड़ा

0
204


Image Source : IPLT20.COM
Expert’s Corner अपनी गलतियों से सीखने की कोशिश नहीं कर रही राजस्थान रॉयल्स – अंजुम चोपड़ा 

राजस्थान रॉयल्स को आईपीएल 2021 के 12वें मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स के हाथों 45 रनों से हार का सामना करना पड़ा। यह इस सीजन में उनकी दूसरी हार है। चेन्नई ने राजस्थान के सामने 189 रन का लक्ष्य रखा था, लेकिन वानखेड़े के मैदान पर संजू सैमसन की टीम इस लक्ष्य तक पहुंचने में नाकाम रही। राजस्थान के लिए जॉस बटलर (49) को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल पाया। ऐसे में भारतीय महिला टीम की पूर्व कप्तान अंजूम चोपड़ा का मानना है कि राजस्थान की टीम अपनी गलतियों से सीखने की कोशिश नहीं कर रही है।

इंडिया टीवी के शो क्रिकेट धमाका पर अंजुम ने कहा “चेन्नई के सामने राजस्थान रॉयल्स की टीम पूरी तरह से ढह गई। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, पिछले कई सीजन से उनकी टीम के साथ यह चीज देखने को मिल रही है। इससे क्या समझे वह अपनी गलती से सीखने की कोशिश नहीं कर रहे हैं? या गलती की तरफ नहीं देख रहे हैं।”

अंजुन ने आगे कहा कि चेन्नई को मैच से बाहर रखना बेहद मुश्किल होता है। मुझे जरूर लगा था कि राजस्थान रॉयल्स को इस टारगेट को पार करने में कोई दिक्कत नहीं आनी चाहिए, लेकिन राजस्थान रॉयल्स ने इनकंसिस्टेंसी फिर सामने आई है।

राजस्थान रॉयल्स के पास बटलर के अलावा डेविड मिलर, संजू सैमसन और शिवम दूबे जैसे विस्फोटक खिलाड़ी मौजूद हैं, लेकिन कल किसी भी खिलाड़ी ने धैर्य नहीं दिखाया और शॉट खेलने के प्रयास में वह आउट हो गए।

अंजुम चोपड़ा ने इस पर कहा “हिटर की फोज बनाने में कोई खराब बात नहीं है, ये क्रिकेट का सबसे छोड़ा फॉर्मेट है और इसमें हर खिलाड़ियों को यही काम मिलता है कि वह ज्यादा से ज्यादा टीम के लिए रन बना सके। टीम के लिए लक्ष्य हमेशा जीत का रहता है।”

चेन्नई के लिए सभी बल्लेबाजों छोटा-छोड़ा स्कोर खड़ा करते हुए टीम को 188 रन के लक्ष्य तक पहुंचाया। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि टीम के लिए फाफ डुप्लेसिस ने 33 रन का सर्वाधिक स्कोर बनाया। अंजुम ने इसके बारे में कहा कि यह साफ होता है कि टीम का लक्ष्य 188 है तो यह ज्यादा महत्वपूर्ण है। टीम का टोटल ज्यादा जरूरी है। 

रविंद्र जडेजा ने इस मैच में बल्ले से कमाल ना दिखाने के बाद फील्डिंग और लाजवाब गेंदबाजी कर सीएसके की जीत में योगदान दिया। जडेजा ने दो विकेट लेने के साथ आउट फील्ड में कुल चार कैच पकड़े।

जडेजा हाल ही में चोट से वापसी कर रहे हैं ऐसे में उनका यह परफॉर्मेंस काबलिय तारीफ है।

अंजुम ने जडेजा के बारे में कहा “वो खिलाड़ी की योग्यता है और उस खिलाड़ी ने जो महारत हासिल की हुई है उसको इस्तेमाल करने का कौशल वो कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के अंडर आती है। कौशल तो हर खिलाड़ी में  है तभी तो आप अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल रहे हैं। चोट के बाद भी आप हर डिपार्टमेंट में आकर अच्छा कर रहे हैं तो कप्तान इससे ज्यादा आपसे कुछ डिमांड नहीं कर सकता।”





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here